• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Meeting tomorrow to decide the role and representation of the Nirmohi Akhara in the trust to be constructed for Ram temple in Ayodhya

ग्वालियर / अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़े की भूमिका और प्रतिनिधित्व तय करने बैठक कल

अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल। अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल।
X
अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल।अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल।

  • बैठक 20 जनवरी को लक्ष्मीबाई कॉलोनी स्थित सिद्धपीठ श्रीगंगादासजी की शाला में होगी
  • निर्मोही अखाड़ा लंबे समय से रामलला के पूजन के अधिकार की मांग कर रहा है

दैनिक भास्कर

Jan 19, 2020, 04:14 PM IST

ग्वालियर। अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़े की भूमिका और प्रतिनिधित्व तय करने के लिए अखाड़े से जुड़े प्रमुख साधु-संतों की बैठक 20 जनवरी को लक्ष्मीबाई कॉलोनी स्थित सिद्धपीठ श्रीगंगादासजी की शाला में होगी। बैठक की अध्यक्षता शाला के महंत पूरन बैराठी पीठाधीश्वर रामसेवकदास महाराज करेंगे।

महंत ने बताया कि अयोध्या भूमि विवाद में पक्षकार रहे निर्मोही अखाड़े का संबंध रामानंदी संप्रदाय से है। अखाड़ा लंबे समय से रामलला के पूजन के अधिकार की मांग कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने भी केंद्र सरकार से ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़े को समुचित प्रतिनिधित्व देने के निर्देश दिए थे। इसके बाद केंद्र सरकार ने निर्मोही अखाड़े को ट्रस्ट में शामिल होने के लिए अपना प्रतिनिधि तय करने को कहा है। इसी के चलते निर्मोही अखाड़े से जुड़े प्रमुख संत 20 जनवरी को यहां जुटेंगे।

निर्मोही अखाड़ा वृंदावन के अध्यक्ष मदनमोहनदास महाराज ने बताया है कि इस बैठक में संत मंदिर निर्माण व्यवस्था और प्रबंधन में अखाड़े की भूमिका को लेकर चर्चा करेंगे। इसके साथ ही निर्मोही अखाड़े की तरफ से ट्रस्ट में शामिल होने वाले प्रतिनिधियों के नाम भी बैठक में सर्वसम्मति से तय किए जाएंगे।

मंदिर निर्माण में हमारी भूमिका सकारात्मक रहेगी

निर्मोही अखाड़ा वृंदावनधाम महंतश्री मदनमोहनदास महाराज ने कहा है कि मंदिर निर्माण को लेकर बनने वाले ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़े की भूमिका पर सरकार को सकारात्मक रुख अपनाना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट की भी यही मंशा रही है। निर्मोही अखाड़ा भी मंदिर निर्माण में सकारात्मक भूमिका का निर्वहन करना चाहता है। हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द मंदिर का निर्माण हो ताकि हिंदू समाज अपने आराध्य भगवान श्री राम का पूजन कर सके।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना