--Advertisement--

बच्चे खुद बनाकर अपने रिश्तेदारों को देते हैं मिट्‌टी की गणेश प्रतिमाएं

बच्चे खुद बनाकर अपने रिश्तेदारों को देते हैं मिट्‌टी की गणेश प्रतिमाएं

Danik Bhaskar | Sep 09, 2018, 11:15 AM IST

ग्वालियर। नदियों व तालाबों को जल से प्रदूषित होने से बचाने के लिए रायरू स्थित डीपीएस स्कूल के बच्चों को मिट्टी की गणेश प्रतिमाएं बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। स्कूल में यह अभियान पिछले 8 साल से चल रहा है। बच्चों को मिट्टी की प्रतिमाएं बनाने का प्रशिक्षण स्कूल की कला की शिक्षक प्रीति विजयवर्गीय और उनकी टीम दे रही है।

स्कूल में पहली क्लास से लेकर 12वीं क्लास तक के बच्चों को मिट्टी के गणेश बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस समय स्कूल के करीब 4,000 छात्र यह प्रशिक्षण ले रहे हैं। इनमें से करीब डेढ़ हजार बच्चों ने अपने गणेश जी तैयार कर लिए हैं। सूखने के बाद इन पर ईको फ्रेंडली कलर किया जाएगा। बच्चों को प्रीति के अलावा संदीप कुमार शाक्य, नीरजा पथरीचा, निधि चावला, मोनिका पथरीचा और आकांक्षा त्रिवेदी प्रशिक्षण दे रही हैं।

मिट्‌टी खरीदकर मालियों को देते हैं बनाने

बच्चों को गणेश जी की प्रतिमा बनाना सिखाने के बाद प्रबंधन द्वारा मिट्टी दी जा रही है। इस मिट्टी से गणेश प्रतिमाएं तैयार कर बच्चे अपने रिश्तेदारों को उपहार में देंगे ताकि वे पीओपी की प्रतिमा नहीं खरीदें। प्रतिमा तैयार करने के लिए हुजरात पुल से मिट्टी खरीदी जाती है। इसके बाद मालियों द्वारा मूर्ति के लिए मिट्टी तैयार की जाती है।

गृहिणियों को भी सिखाएंगे प्रतिमा बनाना

प्रीति ने बताया कि रविवार और सोमवार को महिलाओं के लिए लाला का बाजार स्थित अपने घर पर मिट्टी की प्रतिमा बनाने का प्रशिक्षण देंगी। प्रीति ने बताया कि 8 साल पहले उन्हें पीओपी की प्रतिमाओं से होने वाले नुकसान के बारे में पता चला था। इसके चलते उन्होंने खुद प्रतिमा बनाना सीखकर प्रशिक्षण देना शुरू किया।

मिशन उड़ान ने शुरू किया अभियान

मिशन उड़ान के पदाधिकारियों द्वारा रविवार सुबह 9 बजे से सिंधी कॉलोनी स्थित बालक आवासीय छात्रावास में मिट्टी की प्रतिमा बनाने का प्रशिक्षण मूर्तिकार अनिल बाथम देंगे। मिशन के सचिव संभव जैन ने बताया कि इस दौरान पीओपी की प्रतिमाअों से होने वाले नुकसान के बारे में भी बताया जाएगा।

यहां करें संपर्क

जो कलाकार, आर्ट टीचर्स, संस्थाएं और विक्रेता अपनी जानकारी इस कॉलम में देना चाहते हैं वे अपनी पूर्ण जानकारी हमें 9893886910 नंबर पर वॉट्सएप करें। हम उसे कॉलम में प्रकाशित करेंगे।