• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • MP kuno river bridge collapes after 3 months of inaugration in Shivpuri
--Advertisement--

शुरू होने के तीन महीने में ही बह गया 8 करोड़ रुपए की लागत से बना कूनो नदी का पुल

3 महीने पहले 8 करोड़ की लागत से तैयार किया गए पुल का आधा हिस्सा शनिवार को नदी में बह गया। सरकार ने इस पुल को अपने विकास

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 12:37 PM IST
तीन महीने पहले हुआ था इस पुल का तीन महीने पहले हुआ था इस पुल का

शिवपुरी। 3 महीने पहले 8 करोड़ की लागत से तैयार किया गए पुल का आधा हिस्सा शनिवार को नदी में बह गया। सरकार ने इस पुल को अपने विकास मॉडल में भी शामिल किया था। कूनो नदी पर बना ये पुल श्योपुर को ग्वालियर और शिवपुरी से जोड़ता था। पुल बहने के बाद फिलहाल शिवपुरी का दोनों जिलों से संपर्क टूट गया है।

कूनो नदी के इस पुल का उदघाटन इसी साल 29 जून को केंद्रीय मंत्री एवं क्षेत्रीय सांसद नरेंद्र सिंह तोमर ने किया था। जिला प्रशासन के अनुसार जिले के ग्रामीण इलाकों में लगभग 500 छोटे घर पानी में बह गए हैं। बीते दिनों हुई भारी बारिश से शिवपुरी जिले और आसपास के जिलों में कूनो, चंबल और सीप सहित सभी नदिया उफान पर थीं। उसी दौरान ये हादसा हुआ। ये पुल मध्य प्रदेश और राजस्थान को भी जोड़ता था। सरकार ने इस पुल को अपने विकास के मॉडल में भी शामिल किया था। पुल उदघाटन के तीन महीने तक भी नहीं टिक सका और पहली बारिश भी नहीं झेल सका। कलेक्टर शिल्पी गुप्ता ने बताया कि पुल का निर्माण लोकनिर्माण विभाग ने किया था। उन्होंने अधिकारियों से तत्काल रिपोर्ट मांगी है।

विधायक ने कहा


स्थानीय भाजपा विधायक प्रहलाद भारती ने कहा कि लोग उनसे सवाल पूछ रहे हैं। लोगों का कहना है कि पुल निर्माण में भ्रष्टाचार किया गया। उन्होंने कहा कि पुल का घटिया निर्माण भविष्य में लोगों की जान खतरे में डाल सकता है। उन्होंने कहा कि भारी बारिश के बाद पुल के लगभग चार फीट ऊपर से पानी बह रहा था जिसके कारण पुल धराशाई हो गया। उन्होंने कहा कि घटना में हालांकि उनकी विधानसभा का सिर्फ एक गांव ही प्रभावित हुआ है फिर भी वह चाहते हैं कि पुल के घटिया निर्माण की निष्पक्ष जांच हो और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो।