• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior News mp news after sunrise offerings of gods sages and fathers were made with kusha sesame and barley

सूर्योदय के बाद कुशा, तिल और जौ से देवों, ऋषियों व पितरों का किया तर्पण

Gwalior News - श्राद्ध पक्ष की शुरूआत के साथ ही शुक्रवार को जलाशयों में एकत्रित होकर श्रद्धालुओं ने अपने पूर्वजों के नाम पर...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:38 AM IST
Gwalior News - mp news after sunrise offerings of gods sages and fathers were made with kusha sesame and barley
श्राद्ध पक्ष की शुरूआत के साथ ही शुक्रवार को जलाशयों में एकत्रित होकर श्रद्धालुओं ने अपने पूर्वजों के नाम पर तर्पण किया। इस दौरान उन्होंने कुशा, तिल और जौ को माध्यम बनाकर देव, ऋषि और पितरों के निमित्त तर्पण किया। इस बार कनागत 16 दिन के हैं।

वैदिक परंपरा के अनुसार जलाशय में तर्पण सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इसी कारण कटोरा ताल परिसर स्थित छोटे तालाब पर सुबह से ही श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया। कटोरा ताल के बाहर कुशा बेचने वाले दुकानदार तड़के से ही बैठे हुए थे। लोगों ने कुशा, जौ, तिल व फूल खरीदकर सूर्योदय के बाद तर्पण किया। सबसे पहले देवों को, फिर ऋषियों को और अंत में पितरों को तर्पण किया। दिन ढलने तक तर्पण का सिलसिला चलता रहा। अधिकांश लोगों ने घर पर ही सूर्य देवता को साक्षी मानकर तर्पण किया। कई लोगों ने हरिद्वार, इलाहाबाद और गया जैसे महत्वपूर्ण स्थानों पर पहुंचकर अपने पुरखों को तृप्त किया। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार पिंड दान एवं तर्पण कर न केवल पूर्वजों को तृप्त किया जा सकता है बल्कि उनके मोक्ष का मार्ग भी प्रशस्त किया जा सकता है। गायत्री परिवार द्वारा भी श्राद्ध पक्ष के पहले दिन तर्पण कार्यक्रम आयोजित किया गया,जिसमें श्रद्धालुओं ने भाग लेकर अपने पितरों को याद किया और उनके निमित्त तर्पण किया।

थीम रोड स्थित सावरकर सराेवर में शुक्रवार को श्रद्धालुओं ने तर्पण किया। फोटो: भास्कर

सर्वपितृ अमावस्या पर सामूहिक तर्पण 28 को लक्ष्मीबाई कम्युनिटी हॉल में

लक्ष्मीबाई कॉलोनी स्थित कम्युनिटी हॉल प्रांगण में 28 सितंबर सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या के दिन तर्पण का आयोजन किया जाएगा। आयोजन समिति के डॉ. एके वाजपेयी, राजीव चड्ढा ने बताया कि तर्पण के लिए पूजन सामग्री नि:शुल्क दी जाती है। यह आयोजन डॉ. सुनील शर्मा और पं. सत्यप्रकाश दुबे के आचार्यत्व में किया जाएगा। सर्व पितृ अमावस्या पर सामूहिक तर्पण में शामिल होने वाले जातकों काे अपने साथ एक गहरी परात, लोटा, चम्मच और अंगोछा लेकर आना होगा। जातकों को भारतीय परिधान में तर्पण श्रेष्ठ है। उधर झूलेलाल नवयुवक मंडल माधौगंज द्वारा सर्व पितृ अमावस्या पर 28 सितंबर को शाम 5:30 बजे दीप विसर्जन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। झूलेलाल नवयुवक मंडल के अध्यक्ष वासुदेव जोतवानी ने बताया कि इस कार्यक्रम की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। गायत्री परिवार ट्रस्ट, गायत्री शक्ति पीठ गायत्री नगर में जल तर्पण एवं पिंडदान का आयोजन किया गया। गायत्री शक्तिपीठ के मुख्य प्रबंध ट्रस्टी एसपी गुप्ता ने बताया कि 28 सितंबर तक प्रतिदिन सुबह 7 से 8 बजे तक पितरों के सामूहिक तर्पण एवं पिंडदान वैदिक मंत्रों के साथ किया जाएगा।

X
Gwalior News - mp news after sunrise offerings of gods sages and fathers were made with kusha sesame and barley
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना