बिस्वनाथ मम नाथ पुरारी, त्रिभुवन महिमा विदित तुम्हारी

Gwalior News - महाशिवरात्रि पर्व अचलेश्वर, गुप्तेश्वर, हजारेश्वर, कोटेश्वर, मार्कण्डेश्वर सहित शहर के प्रमुख मंदिरों में...

Feb 22, 2020, 07:20 AM IST
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you

महाशिवरात्रि पर्व अचलेश्वर, गुप्तेश्वर, हजारेश्वर, कोटेश्वर, मार्कण्डेश्वर सहित शहर के प्रमुख मंदिरों में धूमधाम से मनाया गया। गुरुवार की रात से ही मंदिरों में भक्तों का तांता शुरू हो गया, जो शुक्रवार की देररात तक लगा रहा। भक्तों ने ऊं नम: शिवाय और हर महादेव का जयघोष किया। लोगों ने शहर भर में जगह-जगह स्टॉल लगाकर भक्तों को प्रसादी वितरित की। भक्तों को साबूदाने की खिचड़ी, साबू दाने की खीर, मिठाई अौर फल प्रसाद के रूप में वितरित किए गए। वहीं शहर में जगह-जगह पर भोलेनाथ की बरात भी निकाली गई। साथ ही घरों में भी लोगों ने भोलेनाथ की विशेष पूजा-अर्चना की।

अचलेश्वर मंदिर पर रात से ही भक्तों के अाने का सिलसिला शुरू हो गया। महिलाअों अौर पुरुषों को मंदिर पर अलग-अलग रास्तों से प्रवेश दिया गया। वहीं गुप्तेश्वर से आने वाली रथयात्रा का भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर न्यास के अध्यक्ष हरिदास अग्रवाल, विजय कब्जू, भुवनेश्वर वाजपेयी, रामनाथ अग्रवाल अादि उपस्थित थे। गुप्तेश्वर मंदिर में शुक्रवार की रात को चार पहर की पूजा का रुद्राभिषेक किया गया।

शिव देते हैं बुराई छोड़ने का संदेश

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय पुराना हाइकोर्ट स्थित संगम भवन में मनाई गई। विश्वविद्यालय द्वारा 84 साल से शिव जयंती मनाई जा रही है। कार्यक्रम में अशोक बांदिल, अंकिता कैलासिया, अनूप कैलासिया, बीके डॉ. गुरुचरण भाई, जीतू, अरुण भाई आदि उपस्थित थे।

11 हजार पार्थिव शिवलिंगों का निर्माण

अदिति आस्था सेवा समिति द्वारा शुक्रवार को 11 हजार शिवलिंगों का निर्माण कर शिवजी का अभिषेक किया गया। इस अवसर पर डॉ. वीणा प्रधान, तुलसी कुमारी, जयश्री बाथम, भारती राजौरिया, शैलजा शर्मा आदि उपस्थित थीं।

रायसिंह का बाग से धूमधाम से निकली बाबा महाकाल की बरात

रॉक्सी टॉकीज के पास स्थित रायसिंग का बाग में शुक्रवार शाम बाबा महाकाल की बरात निकाली गई। बारात में सबसे अागे श्री राधा कृष्ण की झांकी थी। आयोजन स्थल पर बरात पहुंचने के बाद वरमाला की भी रस्म हुई। इसके बाद महाआरती के बाद भक्तों को प्रसादी वितरित की गई।

अर्थात्-भगवान शंकर और माता पार्वती जी की मैं वंदना करता हूं जो श्रद्धा और विश्वास के स्वरूप हैं ।

भवानी शंकरौ वन्दे श्रद्धाविश्वासरुपिणौ ।

याभ्यां बिना न पश्यन्ति सिद्धाः स्वान्तःस्थमीश्वरम् ।।

काेटेश्वर मंदिर भगवान भोलेनाथ का पूजन करते श्रद्धालु।

साम्प्रदायिक सौहार्द्र: भगवान भोलेनाथ के भक्तों को प्रसादी वितरित करने के लिए मुस्लिम समाज के लोगों ने भी जयेंद्रगंज में स्टॉल लगाया। उन्होंने साबूदाने की खिचड़ी, तले हुए आलू आदि का वितरण किया।

व्यवसायी हरिओम गर्ग अपनी दुकान पर हर महाशिवरात्रि को एक थाली में शिवलिंग रखकर उसमें दूध भर देते हैं और उसका कनेक्शन एक छोटी सी मोटर से कर देते हैं, जिससे 24 घंटे भोलेनाथ का रुद्राभिषेक होता है।

गुप्तेश्वर मंदिर पर भगवान शंकर के दर्शन करते श्रद्धालु।

Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
X
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you
Gwalior News - mp news biswanath mam nath purari tribhuvan mahima knew you

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना