डेंगू का मच्छर अधिक ऊंचा नहीं उड़ पाता इसलिए पीड़ितों में बच्चों की संख्या अधिक

Gwalior News - दिन और रात के तापमान में दोगुने से अधिक का अंतर होने के कारण डेंगू के लार्वा तेजी से सक्रिय हो रहे हैं। इसी कारण...

Nov 11, 2019, 08:10 AM IST
दिन और रात के तापमान में दोगुने से अधिक का अंतर होने के कारण डेंगू के लार्वा तेजी से सक्रिय हो रहे हैं। इसी कारण डेंगू के मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। डेंगू नवंबर में तेजी से फैल रहा है। अक्टूबर में 138 मरीज मिले थे, लेकिन नवंबर के 9 दिन में ही 75 नए मरीज सामने आ चुके हैं। इनमें से 18 साल से कम उम्र के मरीजों की संख्या 43 है। महज 1 महीना 9 दिन में डेंगू के 213 मरीज सामने आए हैं। जीआरएमसी के बाल रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अजय गौड़ का कहना है कि डेंगू का मच्छर दिन में काटता है और वह अधिक ऊंचाई पर उड़ नहीं सकता है। बच्चे पूरी बांह के कपड़े कम पहनते हैं इसलिए बच्चों को डेंगू अधिक होता है। डेंगू से बचने के लिए बच्चों को पूरी बांह के कपड़े पहनाएं। शासन के निर्देश हैं कि जिस क्षेत्र में डेंगू या चिकनगुनिया का मरीज निकलता है, उस मरीज के आसपास के 50-50 घरों में एंटी लार्वा एक्शन प्लान किया जाना चाहिए। शहर में डेंगू अपना असर दिखा रहा है। प्रशासन ने डेंगू से निपटने के लिए कितने पुख्ता इंतजाम किए हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि महानगर में एंटी लार्वा एक्शन प्लान के साथ-साथ घर-घर सर्वे कार्य के लिए सिर्फ 26 लोगों को ही स्वास्थ्य विभाग ने लगाया है। मुरार क्षेत्र के मलेरिया निरीक्षक पान सिंह को फील्ड से हटाकर जिला मलेरिया अधिकारी मनोज कुमार पाटीदार ने ऑफिस में लगा रखा है। डेंगू के मरीज मिलने पर टीम उनके घर तो जा रही है लेकिन आसपास के कुछ घरों में खाना-पूर्ति कर लौट रही है। यह स्थिति तब है जब स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने ग्वालियर प्रवास के दौरान कलेक्टर अनुराग चौधरी, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, सीएमएचओ डॉ. मृदुल सक्सैना, सिविल सर्जन डॉ. वीके गुप्ता के साथ बैठक के दौरान कहा था कि डेंगू, मलेरिया और स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए पूरे प्रबंध करें।

केआरएच के चिल्ड्रन वार्ड में भर्ती मरीज।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना