• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior News mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor

जेयू में बनेगा डिजिटल म्यूजियम, गंगादास की शाला में दिखेगी 1857 शौर्य की गाथा

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:45 AM IST

Gwalior News - ग्वालियर जल्द ही म्यूजियम सिटी के रूप में देशभर में अपनी पहचान बनाएगा। यहां वर्तमान में पांच संग्रहालय हैं।...

Gwalior News - mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor
ग्वालियर जल्द ही म्यूजियम सिटी के रूप में देशभर में अपनी पहचान बनाएगा। यहां वर्तमान में पांच संग्रहालय हैं। इनमें जयविलास म्यूजियम, गूजरी महल, सरोद घर, नगर निगम संग्रहालय और फोर्ट पर एएसआई का संग्रहालय स्थित है। अब इसी क्रम में साल के अंत तक तीन नए संग्रहालय बनकर तैयार हो जाएंगे, जिससे यहां संग्रहालय की संख्या बढ़कर 8 हो जाएगी। जीवाजी यूनिवर्सिटी के प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग का म्यूजियम अब डिजिटलाइज होने जा रहा है।

यह शहर की सरकारी यूनिवर्सिटी का पहला ऐसा म्यूजियम होगा, जिसमें महाभारतकाल से लेकर प्रागैतिहासिक काल की पुरासंपदा काे एक क्लिक पर देखा जा सकेगा। इसके लिए यूनिवर्सिटी में रिनोवेशन का भी काम शुरू हाे गया है। जब यह रिनोवेशन पूरा हो जाएगा। इसके बाद डिजिटलाइजेशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इसका फायदा यह होगा कि जिन स्टूडेंट्स और रिसर्च स्कॉलर्स को ग्वालियर चंबल अंचल के पुरावशेषाआें और उत्खनन से प्राप्त होने वाले औजारों एवं मृदभांडों के बारे में जानकारी लेनी होगी, वह उन्हें एक ही जगह बैठकर मिल जाएगी। इसके अलावा वे आॅनलाइन ही इनकी इमेज भी देख सकेंगे। इस म्यूजियम को तीन चरणों में पूरा किया जाएगा, जिसके लिए जेयू की ओर से हाल ही में 20 लाख रूपए का अनुदान दिया गया है। जिससे म्यूजियम में फ्लोर बनाने से लेकर लाइटिंग का काम किया जाएगा। इनको गैलरी में प्रदर्शित होने वाली विरासत पर फोकस किया जाएगा। साथ ही इन सभी के नीचे पटि्टकाएं लगाई जाएंगी।

ग्वालियर-चंबल संभाग की ऐतिहासिक विरासत को किया जाएगा इसमें प्रदर्शित

जेयू के इस संग्रहालय में प्रागैतिहासिक व मौर्य काल के औजारों के अलावा महाभारतकालीन अवशेष रखे जाएंगे। विभाग के स्टूडेंट्स ने चार जगह खुदाई के दौरान कुछ धरोहर प्राप्त की थी। इनमें गुप्तेश्वर मंदिर के पास खुदाई से प्रागैतिहासिक काल के औजार मिले थे। मुरैना के पास खुदाई के समय महाभारतकालीन अवशेष मिले हैं। इसमें वुडन केस, लाइटिंग और फ्लेारिंग का उपयोग किया जाएगा। इसके अलावा म्यूजियम में गैलरी भी बनाई जाएंगी। इनको थीम के मुताबिक डिजाइन कराई जाएंगी।

जेयू संग्रहालय

साइंस कॉलेज के संग्रहालय को देख सकेंगे स्कूली छात्र

साइंस कॉलेज में बॉटनी ओर जूलॉजी के संग्रहालय में विभिन्न प्रजाति के दुर्लभ मॉडल्स रखे हुए हैं। अब इनको स्कूल के छात्र-छात्राएं भी देख सकते हैं। बॉटनी विभाग के डॉ. पीपी देव और डॉ. विनोद कुमार सेवरिया ने बताया कि इसमें कई दुर्लभ प्रजाति के मॉडल रखे हैं।

म्यूजियम स्कूली छात्र-छात्राओं के लिए भी ओपन किया जाएगा। इसमें अंचल की पुरासंपदा और संस्कृति से रूबरू हो सकेंगे। इसके लिए उन्हें कहानियों के जरिए हर पुरावशेष की खासियत बताई जाएगी। उन्हें विभाग के स्टूडेंट्स गाइड करेंगे।  - डॉ एके सिंह, अध्यक्ष प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग, जेयू

गांव-गांव जाकर एकत्रित करेंगे कृषि के पुराने उपकरण संग्रहालय में किए जाएंगे प्रदर्शित

राजमाता विजयाराजे सिंधिया एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी शहर का पहला कृर्षि संग्रहालय बनाने जा रहा है। इस संग्रहालय के माध्यम से लोगों को यह बताना है कि पहले के समय में खेती के लिए किन उपकरणों का उपयोग किया जाता था। इसके लिए यूनिवर्सिटी की ओर से प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। साथ ही ग्वालियर-चंबल संभाग के उन गांवों में टीम जा रही हैं, जहां अभी भी कृर्षि से जुड़े काफी पुराने उपकरण रखे हुए हैं। इन सभी को शहर में बनने वाले पहले कृर्षि संग्रहालय में प्रदर्शित किए जाएंगे। इस संग्रहालय को यूनिवर्सिटी कैंपस में बनाया जाएगा।

एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के हथियार शोकज में किए जाएंगे प्रदर्शित

लक्ष्मीबाई कॉलोनी स्थित गंगादास की शाला में 1857 के समय के काफी अस्त्र-शस्त्र हैं। अभी तक इनको शहरवासी दशहरे के दिन ही देख पाते हैं, लेकिन अब यहां के महंत इसे संग्रहालय का रूप देने की कवायद शुरू कर दी है। इसके लिए स्टोर रूम में कांच के डिस्प्ले लगाए जाएंगे। जिनमें प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के समय के हथियारों को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके अलावा स्कूली छात्र-छात्राओं को इस ऐतिहासिक स्थल को भी दिखाया जाएगा। इसके अलावा साधु इन हथियारों का प्रदर्शन भी करेंगे।

गंगादास की शाला

एएसआई संग्रहालय में आज फ्री एंट्री

ग्वालियर फोर्ट स्थित आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के संग्रहालय पर विश्व संग्रहालय दिवस (18 मई) को प्रवेश नि:शुल्क रहेगा। साथ ही स्कूली छात्रों के लिए चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। यह प्रतियोगिता सुबह 9.30 बजे से शुरू होगी।

Gwalior News - mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor
Gwalior News - mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor
X
Gwalior News - mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor
Gwalior News - mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor
Gwalior News - mp news digital museum will be seen in the school of gangadas 1857 the saga of valor
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543