मेडिकल रिपोर्ट तैयार करते समय सावधानी बरतंे डाॅक्टर

Gwalior News - मप्र हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव और निदेशक अभियोजन को आदेश दिया है कि वे...

Feb 15, 2020, 07:26 AM IST

मप्र हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव और निदेशक अभियोजन को आदेश दिया है कि वे डाॅक्टर्स को मेडिकल रिपोर्ट तैयार करने में सावधानी बरतने के लिए निर्देशित करें। अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान सिंगल बेंच ने कहा कि मेडिको-लीगल केस में ओपीनियन देते समय डाॅक्टर्स को पूरी सतर्कता बरतना चाहिए। यहां तक की रिपोर्ट में राइटिंग भी साफ व पढ़ने योग्य हो। इस कवायद के लिए हाईकोर्ट ने तीन माह का समय दिया है। अगली सुनवाई मई में होगी।

दरअसल, विनय यादव, सत्यप्रकाश यादव और करन सिंह यादव ने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की। एडवोकेट अजय भार्गव ने कोर्ट को बताया कि भांडेर में वाद-विवाद के चलते दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई। इसकी रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराई गई। शैलेंद्र यादव का मेडिकल कराया गया। जिसमें खोपड़ी में फ्रैक्चर होने की पुष्टि की गई। इस कारण तीनों याचिकाकर्ताओं के विरुद्ध आईपीसी की धारा 326 (खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छापूर्वक घोर उपहति कारित करना) के तहत मामला दर्ज किया गया। इस रिपोर्ट को कोर्ट में चुनौती दी गई। कोर्ट ने गजराराजा मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञों से मेडिकल रिपोर्ट पेश प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। इस रिपोर्ट में खोपड़ी में फ्रैक्चर होने की बात सामने नहीं आई। कोर्ट ने याचिका स्वीकार की साथ ही संदेह का लाभ देते हुए डॉक्टर को गलत रिपोर्ट देने के आरोप से बरी कर दिया।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना