डीआरडीई ग्वालियर में होगी मास्क के एडवांस वर्जन एन-99 आैर पीपीई किट की टेस्टिंग

Gwalior News - डीआरडीई ने दोनों चीजों के निर्माण में सीआईआई से मांगा सहयोग, मुफ्त में तकनीक उपलब्ध कराएगा कोरोना के...

Mar 31, 2020, 07:10 AM IST

{डीआरडीई ने दोनों चीजों के निर्माण में सीआईआई से मांगा सहयोग, मुफ्त में तकनीक उपलब्ध कराएगा

कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी मास्क 95 के ए़डवांस वर्जन मास्क 99 आैर डॉक्टरों को दी जाने वाली पीपीई किट की टेस्टिंग डीआरडीई ग्वालियर में की जाएगी। डीआरडीई की तकनीकी मदद से मुंबई आैर कोलकाता में दो कंपनियों ने मास्क एन- 99 आैर टाटा संस, महिंद्रा और भेल ने पीपीई किट बनाने का काम शुरू कर दिया है। इन कंपनियों के उत्पादन की जांच भी डीआरडीई की ग्वालियर लैब में होगी। इसके लिए निर्मित सामग्री को ग्वालियर लाना होगा। लैब में सेनेटाइजर बनाने का काम पहले से ही चल रहा है। शेष|पेज 11 पर

केंद्र सरकार से विशेष अनुमति दिलाएंगे


पीपीई किट और एन 99 मास्क की जांच डीआरडीई ग्वालियर में होगी। इन्हें ग्वालियर लाने के लिए हम कंपनियों को सरकार से विशेष अनुमति दिलाएंगे। देश को बड़े पैमाने पर पीपीई किट, सैनेटाइजर, एन 99 मास्क और वेंटिलेटरों की जरूरत है। इसके लिए हम निजी कंपनियों को मुफ्त तकनीक देने को तैयार हैं। -डॉ.डीके दुबे, डायरेक्टर, डीआरडीई ग्वालियर

देश में 1 करोड़ एन-99 मास्क की जरूरत, जो मुंबई और कोलकाता की कंपनियां के लिए संभव नहीं


डीआरडीई ग्वालियर के अफसरों ने बताया कि इस समय देश को 1 करोड़ एन 99 मास्क की जरूरत है। लेकिन मुंबई और कोलकाता की जो कंपनियां इन्हें बना रही हैं, वे सप्ताह भर में इतने मास्क नहीं बना पाएंगी। इसके चलते देश के अन्य उद्यमियों से इस काम के लिए आगे आने का आग्रह किया ।

मुंबई, कोलकाता में दो कंपनियां बना रहीं एन-99 मास्क, टाटा, महेंद्रा आैर भेल बना रही पीपीई किट

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना