जिन कर्मचारियों पर आरोप लगे, उनकी होगी बर्खास्तगी

Gwalior News - भ्रष्टाचार के आरोप में दो पटवारियों की बर्खास्तगी हो चुकी है। अभी ऐसे 12 कर्मचारी और हैं जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप...

Nov 10, 2019, 08:05 AM IST
भ्रष्टाचार के आरोप में दो पटवारियों की बर्खास्तगी हो चुकी है। अभी ऐसे 12 कर्मचारी और हैं जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं पर अभी निर्णय नहीं हुआ है। एक-दो ऐसे भी हैं, जो कि ड्यूटी पर शराब पीने व अपने अफसरों के साथ अभद्रता कर चुके हैं। इनके खिलाफ भी विभागीय प्रक्रिया अंतिम चरण में हैं। इसके बाद इनको भी बर्खास्त किया जाएगा।

नामांतरण के लिए किसानों से पैसे मांगने वाले दो पटवारी कलेक्टर अनुराग चौधरी द्वारा 7 नवंबर को बर्खास्त किए जा चुके हैं। इनके खिलाफ विशेष न्यायालय से भी आदेश हो चुके थे। इनकी बर्खास्तगी में इसलिए जल्दबाजी की गई ताकि इन्हें निलंबित रहते हुए अकारण भत्ता न देना पड़े। कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा राजस्व विभाग में अभी ऐसे 12 से ज्यादा प्रकरण और हैं। सभी में कार्रवाई प्रचलित है। प्रकरणों में निराकरण के आधार पर ही इन्हें भी बर्खास्त किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि रिश्वत के आरोप में पकड़े गए कर्मचारियों को निलंबन के दौरान मिलने वाले भत्ते पर सरकार का काफी खर्च होता है।

शिक्षा विभाग सहित दो अन्य विभागों में भी कुछ कर्मचारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार, अभद्र व्यवहार, शासकीय नियमों की अनदेखी का आरोप है। इसी विभाग के एक शिक्षक पर आरोप है कि उन्होंने शराब पीकर स्कूल में उपद्रव का प्रयास किया। फिलहाल मकौड़ा के इस शिक्षक को निलंबित कर विभागीय जांच चल रही है। जांच पूरी होने के बाद शिक्षक को भी बर्खास्त किया जा सकता है।

बंद नहीं किया कारोबार: दो दिन पहले कलेक्टर अनुराग चौधरी ने मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री के आधार पर 3 खाद्य कारोबारियों के रजिस्ट्रेशन और एक का लाइसेंस निरस्त किए थे। साथ ही कहा था कि वे लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन निरस्त होने के बाद तत्काल कारोबार बंद कर दें। दो दिन बाद भी इन कारोबारियों ने दुकानें बंद नहीं की हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना