शरीर का भोजन अन्न, मन का भोजन भजन है

Gwalior News - जिस प्रकार शरीर को स्वस्थ रहने के लिए अन्न की आवश्यकता होती है,वैसे ही मन को स्वस्थ रखने के लिए भजन की आवश्यकता होती...

Nov 22, 2019, 07:01 AM IST
Gwalior News - mp news food of the body is food food of the mind is bhajan
जिस प्रकार शरीर को स्वस्थ रहने के लिए अन्न की आवश्यकता होती है,वैसे ही मन को स्वस्थ रखने के लिए भजन की आवश्यकता होती है। जैसा भोजन आप करेंगें वैसा ही शरीर होगा, यदि भोजन पौष्टिक होगा तो शरीर स्वस्थ होगा और यदि भोजन अपौष्टिक होगा तो शरीर कुपोषित एवं अस्वस्थ बनेगा। इसी प्रकार सदगुरु और राम नाम का भजन एवं स्मरण करने से मन साफ एवं प्रसन्नचित रखता है, उसमें उत्तम विचार जाग्रत होते हैं। यह विचार अंतरराष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय के संत रामप्रसाद महाराज ने गुरुवार को रामद्वारा में शुरू हुए सत्संग समारोह के पहले दिन व्यक्त किए।

स्वामी रामचरण महाराज की त्रिशताब्दी प्राकट्य महोत्सव के अंतर्गत 10 दिवसीय सत्संग गुरुवार से प्रारंभ हो गया। इसका समापन 1 दिसंबर को होगा। संतश्री ने कहा कि भजन रूपी भोजन हमें सदगुरु की शरण में मिलता है। हमें गुरु को इसलिए प्रथम प्रणाम करना चाहिए,क्योंकि गुरु ही है जो बिना प्रलोभन के हम पर कृपा करके राम नाम मंत्र रूपी खजाना प्रदान करता है, जिसे आपसे कोई नहीं छीन सकता है। भौतिक दुनिया से प्राप्त जमीन जायदाद, धन संपदा तुमसे या तो छीन ली जाएगी या आपस में बंट जाएगी परंतु सदगुरु द्वारा प्रदान किया गया नाम रूपी धन की पूंजी हमेशा आप के साथ रहेगी और बांटने पर ज्यादा बढ़ जाएगी।

स्वामी रामचरण महाराज की त्रिशताब्दी प्राकट्य महोत्सव के अंतर्गत शुरू हुए सत्संग समारोह में संत राम प्रसाद महाराज के प्रवचन सुनते श्रद्धालु।

जैसे खाता खोलने के लिए आधार जरूरी, वैसे ही आध्यात्मिक जगत का आधार गुरु नाम है

संत रामप्रसाद महाराज ने कहा कि सांसारिक दुनिया के लिए जैसे खाता खोलने के लिए आधार जरूरी है वैसे ही आध्यात्मिक दुनिया का आधार गुरु नाम का जप है। जरूरी नहीं है कि आप गुरु के भौतिक शरीर के पास दिन भर बैठे रहें बल्कि आपको गुरु नाम का आधार लेकर मानसिक रूप से उनके साथ जुड़ना है। गुरू आश्रय न होने से जीवन दुष्कर हो जाता है। भारतीय धर्म में गुरु का बहुत महत्व है। अच्छा गुरु व्यक्ति का जीवन पूरी तरह बदल देता है। वह व्यक्ति का सच्चे अर्थों में उद्धार कर देता है। अंत में रामद्वारा ट्रस्ट के रामनारायण अग्रवाल, रामदेव दानी , महेश पाल ने आरती उतारी। यह सत्संग प्रतिदिन सुबह 8:30 से 9:30 बजे तक होगा।

Gwalior News - mp news food of the body is food food of the mind is bhajan
X
Gwalior News - mp news food of the body is food food of the mind is bhajan
Gwalior News - mp news food of the body is food food of the mind is bhajan
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना