राम मंदिर की नींव हिंदू नववर्ष या रामनवमी पर

Gwalior News - संतोष कुमार . नई दिल्ली | अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राम मंदिर के निर्माण को लेकर संत समाज ने दो...

Nov 11, 2019, 08:11 AM IST
संतोष कुमार . नई दिल्ली | अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राम मंदिर के निर्माण को लेकर संत समाज ने दो तारीखें सुझाई हैं। अखिल भारतीय संत समिति ने सर्वसम्मति से कहा कि मंदिर की नींव हिंदू नववर्ष (नव संवत्सर) या भगवान राम के जन्मदिन (रामनवमी) को ही रखी जाए। पंचांग के अनुसार, हिंदू नववर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से शुरू होता है, जो 2020 में 25 मार्च से शुरू होगा। रामनवमी 2 अप्रैल को है। इन दोनों तारीखों को लेकर संघ भी सहमत है। संघ के सूत्रों ने कहा कि संत समाज की सहमति से ही आगे की रूपरेखा तय की जाएगी। पहले मंदिर निर्माण का जिम्मा विहिप के पास था। लेकिन, अब सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को मंदिर निर्माण के लिए तीन महीने में ट्रस्ट बनाने को कहा है।शेष | पेज 11 पर (पेज 13 भी पढ़ें)

इंसानियत नतमस्तक

जन्मभूमि न्यास पर हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास व मुस्लिम संगठन के बबलू खान साथ पहुंचे।



डाेभाल ने धर्मगुरुअाें के साथ बैठक की, सभी ने शांति की वचन दोहराया

अयोध्या में हिंदुओं ने बारावफात के जुलूस का जगह-जगह फूलों से स्वागत किया, मुस्लिम नेताओं ने राम जन्मभूमि न्यास पहुंच रामलला को बधाई दी

नई दिल्ली| एनएसए अजीत डोभाल ने रविवार को हिंदू-मुस्लिम धर्मगुरुअाें के साथ चार घंटे बैठक की। बैठक में धर्मगुरुअाें ने शांति बनाए रखने की वचनबद्धता दोहराई। बैठक में बाबा रामदेव, स्वामी परमात्मानंद, मौलाना कल्बे जवाद, चिदानंद सरस्वती, स्वामी अवधेशानंद िगरि अादि शामिल हुए।

अयाेध्या| उत्तर प्रदेश में रविवार को 4223 जगह ईद-ए-मिलादुनबी (बारावफात) के जुलूस निकले। अयोध्या में कई जगहों पर हिंदुओं ने फूलों से जुलूस का स्वागत किया। इसी तरह मुस्लिम नेताओं ने राम जन्मभूमि न्यास पहुंचकर रामलला को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के लिए बधाई दी। इमाम शमसुल कमर कादरी ने कहा- ‘सौहार्द बनाए रखना सबकी जिम्मेदारी है। इसलिए हमने कोर्ट के फैसले के दिन शनिवार काे बारावफात के जुलूस नहीं निकाले। रविवार को जुलूस निकाले और हिंदुओं ने उनका स्वागत किया।’

मध्यप्रदेश में शांति: आज से खुलेंगे स्कूल काॅलेज, ग्वालियर में धारा 144 लागू रहेगी

सिटी रिपाेर्टर.ग्वालियर| जिले के सरकारी आैर प्राइवेट स्कूलाें के साथ ही काॅलेज भी साेमवार काे खुलेंगे। एक दिन पहले अयाेध्या मसले पर सुप्रीम काेर्ट के फैसले काे लेकर कलेक्टर अनुराग चाैधरी ने साेमवार तक स्कूलाें काे बंद रखने का आदेश जारी किया था। रविवार को मुख्य सचिव एसआर मोहंती के पत्र में मिले निर्देश के बाद कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को सोमवार को सभी स्कूल खोलने का आदेश दिया।

लागू रहेगी धारा 144: मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रविवार को मुख्य सचिव एसआर माेहंती आैर पुलिस महानिदेशक वीके सिंह के साथ ही खुफिया तंत्र से चर्चा करने और प्रदेश के हालात सामान्य होने से धारा 144 काे वापस लेने का फैसला लिया है। लेकिन ग्वालियर में अभी यह लागू रहेगी। कलेक्टर अनुराग चौधरी के मुताबिक एहतियात के तौर पर यह फैसला लिया गया है। -पढ़ंे|पेज 7

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना