महाराजा दौलतराव सिंधिया ने कराया था अण्णा महाराज की समाधि का निर्माण

Gwalior News - निंबालकर की गोठ, कंपू स्थित हठयोगी संतश्री सद् गुरु अण्णा महाराज का समाधि महोत्सव शनिवार को प्रारंभ हुआ। इस अवसर...

Feb 02, 2020, 07:35 AM IST

निंबालकर की गोठ, कंपू स्थित हठयोगी संतश्री सद् गुरु अण्णा महाराज का समाधि महोत्सव शनिवार को प्रारंभ हुआ। इस अवसर पर विशेष पूजा-पाठ हुए। समाधि महोत्सव 9 फरवरी तक चलेगा। इस दौरान विभिन्न सांस्कृतिक अौर धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा। अण्णा महाराज मठ में रविवार को विभिन्न संतों का मिलन होगा।अण्णा महाराज की वंश परंपरा की अाठवीं पीढ़ी के महंतश्री मनीष महाराज ने बताया कि 192 साल पूर्व सद् गुरु अण्णा महाराज ने सजीवन (जिंदा) समाधि ली थी। समाधि का निर्माण उनके भक्त तत्कालीन महाराज दौलतराव सिंधिया अौर महारानी बैजा बाई ने किया था। यह नगर का एकमेव शैव संप्रदाय का हठयोगी मठ है।

यह है कार्यक्रम

एकमेव संप्रदाय के श्री सद् गुरु हठयोगी महाराज मठ में श्री सद् गुरु अण्णा महाराज का 192वां समाधि महोत्सव 9 फरवरी तक मनाया जाएगा। महोत्सव में शनिवार को शाम 5.30 शास्त्रीय संगीत अायोजित हुआ। मठ में पांडुरंग जोशी ने शास्त्रीय संगीत प्रस्तुत किया। इसके बाद शाम 6.30 बजे से श्री सुबोध नगरकर का कीर्तन हुआ। 2 फरवरी को शाम 4 बजे संत समागम होगा। इस अवसर पर समाजसेवी बाल खांडे का सम्मान भी होगा। इस अवसर पर शहर के विभिन्न संतों को अण्णा महाराज मठ में अामंत्रित किया गया है। 4 फरवरी को शाम 6.30 बजे उपेंद्र शिरगांवकर महाराज का कीर्तन होगा। इसके अलावा 4 और 5 फरवरी श्री सच्चिदानंद नाथ ढोलीबुवा महाराज का कीर्तन होगा। 6 फरवरी को राघवेंद्र शिरगांवकर महाराज के प्रवचन होंगे। 7 फरवरी को शाम 6 बजे अाबा महाराज मंदिर द्वारा राम धुन होगी। 8 फरवरी को भंडारा आयोजित होगा। 9 फरवरी सद्गुरु महाराज की पालकी निकलेगी।

इस अवसर पर समाजसेवी बाल खांडे का सम्मान भी होगा। इस अवसर पर शहर के विभिन्न संतों को अण्णा महाराज मठ में अामंत्रित किया गया है। 4 फरवरी को शाम 6.30 बजे उपेंद्र शिरगांवकर महाराज का कीर्तन होगा। इसके अलावा 4 और 5 फरवरी श्री सच्चिदानंद नाथ ढोलीबुवा महाराज का कीर्तन होगा। 6 फरवरी को राघवेंद्र शिरगांवकर महाराज के प्रवचन होंगे। 7 फरवरी को शाम 6 बजे अाबा महाराज मंदिर द्वारा राम धुन होगी। 8 फरवरी को भंडारा आयोजित होगा। 9 फरवरी सद्गुरु महाराज की पालकी निकलेगी।

जीवन को ऊपर ले जा सकता है शुद्ध आचरण का व्यक्ति

इस अवसर पर महंतश्री मनीष महाराज ने कहा कि जिस व्यक्ति का अाचरण शुद्ध है वो ईश्वर तुल्य होता है। शुद्ध आचरण वाले व्यक्ति के संपर्क में अाने वाला बहुत ही भाग्यशाली होता है। शुद्ध अाचरण वाला व्यक्ति हमेशा अपने संपर्क में अाए हर व्यक्ति के जीवन को निरंतर प्रगति के पथ पर ले जाता है।

कंपू स्थित हठयोगी संतश्री अण्णा महाराज के समाधि महोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित श्रद्धालु।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना