• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior News mp news overcrowded shrines from the city encroachment greenery will plant more plants in one place

शहर से सटे बांधों से हटेंगे अतिक्रमण, हरियाली के लिए एक ही जगह लगाएंगे ज्यादा पौधे

Gwalior News - शहर से सटे सात बांधों से जल्द ही अतिक्रमण हटाकर उनमें बारिश का पानी एकत्र करने का काम किया जाएगा। इसके लिए जिला...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:35 AM IST
Gwalior News - mp news overcrowded shrines from the city encroachment greenery will plant more plants in one place
शहर से सटे सात बांधों से जल्द ही अतिक्रमण हटाकर उनमें बारिश का पानी एकत्र करने का काम किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने अलग-अलग क्षेत्रों के एसडीएम से जलस्रोतों पर किए गए अतिक्रमण की रिपोर्ट मांगी है। कलेक्टर अनुराग चौधरी का कहना है कि रिपोर्ट तैयार हो चुकी है। जल्द ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की जाएगी ताकि बारिश से पहले बांधों से अतिक्रमण हटाकर उनका संधारण कार्य कराया जा सके। इससे बारिश का पानी इन बांधों में एकत्र हो सकेगा। साथ ही कलेक्टर ने निगम अफसरों को निर्देश दिए हैं कि वे पौधरोपण के लिए ऐसे स्थानों का चयन करें जहां एक ही जगह पर बड़ी संख्या में पौधे लगाए जा सकें। इससे पौधों की देखरेख में आसानी रहेगी।

दैनिक भास्कर ने गुरुवार को सूरज आगबबूला है... शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसमें गर्मी के बढ़ते प्रकोप को लेकर विशेषज्ञों से बात की गई थी। उन्होंने इस समस्या के दो प्रमुख समाधानों में बांधों से अतिक्रमण हटाकर उनमें वर्षाजल कर संरक्षण करने और बड़ी संख्या में पौधे लगाना लगाना बताया था। याद रहे, शहर से सटे सात बांधों में अतिक्रमण को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इस पर कोर्ट ने इन सभी बांधों से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे। इस क्रम में पिछले साल वीरपुर और हनुमान बांध की जमीन से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई भी की गई थी। लगभग दो दशक बाद पहली बार हनुमान बांध में पूरा पानी भरा था। लेकिन बाद में अतिक्रमणकर्ताओं ने बांध का गेट तोड़कर पानी निकाल दिया। अब जिला प्रशासन दोबारा से जलस्रोतों से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करेगा।

कलेक्टर ने कहा- रिपोर्ट तैयार हो चुकी है, जल्द ही अतिक्रमण हटाए जाएंगे

वीरपुर बांध, यहां से अतिक्रमण हटाकर इसका भराव क्षेत्र बढ़ाया जाएगा। फोटो- भास्कर

अलापुर-रमौआ बांध का होगा सर्वे

वीरपुर के बाद अब जल संसाधन विभाग अलापुर और रमौआ बांध का भी सर्वे कराएगा। सर्वे कराने का मुख्य उद्देश्य उन कारणों का पता लगाना है जिसके चलते इन बांधों में मानसून का पानी रुक नहीं पाता। जानकारी के अनुसार स्थानीय अधिकारियों ने इस संबंध में प्रस्ताव बनाकर भोपाल भेज दिया है। मंजूरी मिलते ही कार्रवाई शुरू होगी। बता दें कि वर्ष 2012 में जल संसाधन विभाग ने वीरपुर बांध का सर्वे कराया था जिसमें ये बात सामने आई थी कि बांध की जमीन पर खेती होती है। बांध में ज्यादा समय तक पानी नहीं भरा रह सके, इसके लिए वहां के काश्तकार बांध के गेट खोल देते हैं। बांध में एक सीम भी है। इससे बड़ी मात्रा में पानी धरती के अंदर जा रहा है।

इसलिए एक ही जगह रोपेंगे ज्यादा पौधे

मानसून की आमद के साथ शुरू होने वाले पौधरोपण में नगर निगम इस वर्ष 50 हजार पौधे लगाएगा। इसके लिए कलेक्टर ने उन्हें ऐसे स्थान चिह्नित करने को कहा है, जहां बड़ी संख्या में पौधे लगाए जा सकेें। इनमें बांधों के आस-पास की जमीन, खाली पड़ी पहाड़ियां और सरकारी भूमि का चयन किया जाएगा। निगम अधिकारियों का कहना है कि एक ही स्थान पर एक-दो हजार पौधे लगाने से वर्षभर उनकी देखरेख में सुविधा रहेगी। वहां नलकूप खनन कराकर पानी की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही पौधों की देखरेख के लिए पार्क विभाग के कर्मचारियों की तैनाती भी की जाएगी।

X
Gwalior News - mp news overcrowded shrines from the city encroachment greenery will plant more plants in one place
COMMENT