• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior News mp news play the plate and the bell on the roof of the house for 5 minutes at 8 in the morning perform lord aarti from 645 to 7 in the evening

घर की छत पर सुबह 8 बजे 5 मिनट तक बजाएं थाली व घंटी, शाम को 6.45 से 7 बजे तक करें भगवान की आरती

Gwalior News - प्रवचन जयंती की पूर्व संध्या पर 5 मार्च को रात 9 बजकर 9 मिनट पर भी जलाए जाएंगे दिए महावीर जयंती पर इस बार कोई...

Apr 04, 2020, 07:11 AM IST
प्रवचन

जयंती की पूर्व संध्या पर 5 मार्च को रात 9 बजकर 9 मिनट पर भी जलाए जाएंगे दिए

महावीर जयंती पर इस बार कोई भी सामूहिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा। यह निर्णय लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए लिया गया है। महावीर जयंती 5 और 6 अप्रैल को मनाई जाएगी। 6 अप्रैल की सुबह 8 बजे जैन समाज के लोग सामूहिक घंटी और थालियां बजाएंगे। शाम को 6 बजे दीपकों से आरती करेंगे।

जैन धर्म के चौबीसवें तीर्थंकर भगवान महावीर का 2619वां जन्म कल्याणक दिवस 6 अप्रैल को मनाया जाएगा। जयंती को घर- घर मनाने की तैयारियां प्रारंभ हो गई हैं। सकल दिगंबर जैन समाज सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए महावीर जयंती मनाएगा। 5 अप्रैल को महावीर स्वामी की जयंती की पूर्व संध्या पर समाज के लोग अपने-अपने घरों पर रात 9 बजकर 9 मिनट पर दीपक, मोमबत्ती जलाएंगे। इसके अलावा रंग बिरंगी लाइटिंग भी करेंगे। इसके अलावा णमोकार मंत्र का जाप करेंगे। यह संदेश वाट्सएप के माध्यम से घर-घर तक पहुंचाया जा रहा है। साथ ही कोरोना बीमारी से संक्रमण को लेकर पूरी सावधानी बरतने की भी अपील की जा रही है।

संघर्ष से घबराएं नहीं, उसका सामना करें: मुनिश्री


सिटी रिपोर्टर| ग्वालियर

जीवन में आने वाले संघर्षों से घबराना नहीं चाहिए। यह संघर्ष ही हमारे जीवन को महकाते हैं। आपका महत्व बताते हैं और आपको भीड़ से बाहर निकालकर स्थापित करते हैं। गुलाब कांटों से घिरा रहता है, लेकिन वह सदैव दूसरों को मुस्कुराहट रूपी महक देता है। उसी तरह व्यक्ति को संघर्षों के दौरान और विपरीत परिस्थितियों में भी दूसरों के प्रति दया, प्रेम और करूणा के भाव रखने चाहिए। जीवनरूपी बगिया में वह अपनी वह पहचान स्थापित कर सकता है। यह बात राष्ट्रसंत मुनिश्री विहर्ष सागर महाराज ने शुक्रवार को तानसेन नगर स्थित न्यू कॉलोनी में धर्मचर्चा में कही। इस दौरान मुनिश्री विजयेश सागर महाराज भी उपस्थित थे।

मुनिश्री ने कहा कि जो भी हमारे करीब आए हमें उसके जीवन को को इंसानियत की महक से सुगंधित कर देना चाहिए। हमें दुखों से घिरे लोगों के प्रति सेवा का भाव रखना चाहिए। सदाचारों से परिपूर्ण आदर्श जीवन जिएं। अपने से पूर्ण जीवन को भगवान भक्ति से इस प्रकार परिपूर्ण करें कि आने वाले कई युगों तक हमारे मानवीय मूल्यों और आदर्शों की कीर्ति पताका फहराती ही रहे। जैसे कि भगवान महावीर स्वामी ने अहिंसा का बिगुल फूंका वह आज तक पूरे विश्व में गूंज रहा है। ऐसा ही अनुसरण मनुष्य को करना चाहिए। धर्म से यश मिलता है।

मानव जीवन पर अभिमान नहीं गर्व करना चाहिए: उन्होंने कहा कि मन में दया, करुणा और त्याग की भावना हमें जन्म से ही नहीं कर्म से भी मनुष्य बनाती है। हमें उत्तम कुल, उत्तम शरीर मिला है। हमें उस पर अभिमान नहीं करना चाहिए। सुख पाने के लिए त्याग की भावना रखनी चाहिए। यह शरीर हमें उधार में मिला है और आत्मा हमारी मूल है। व्यक्ति शरीर का तो ध्यान रखता है। लेकिन जो हमारी मूल पूंजी आत्मा का ध्यान नहीं रखता।

कर्म से ही पाप और पुण्य तय होते हैं

मुनिश्री ने कहा कि इंसान को परमात्मा ने कर्म करने के लिए अवसर दिया है। कर्म से ही पाप और पुण्य तय होते हैं। अच्छे कर्म से पुण्य और बुरे कर्म से पाप मिलेगा। पाप और पुण्य इस जन्म से लेकर अगले जन्म तक साथ रहते हैं।

भगवान शांतिनाथ का किया अभिषेक: मुनिश्री विहर्ष सागर महाराज के सानिध्य में भगवान शांतिनाथ का अभिषेक अजय जैन और विजय जैन ने किया। भगवान की पूजा अष्टद्रव्य से की गई।

घर में सजाएं रंगोली और सब लोग करें णमोकार का पाठ

भगवान महावीर की जयंती के संबंध में मुनिश्री विहर्ष सागर महाराज ने कहा कि इस वर्ष की भगवान महावीर जयंती को घर में ही अनूठे तरीके से मनाएंगे। 6 अप्रैल को सुबह 8 बजे अपने-अपने घरों की छत और बालकनी से घंटी, शंख और थाली बजाकर पांच मिनट नाद करें। भगवान महावीर के संदेशों को लोगों तक जय जयकारों से पहुंचाएं। सुबह 9 बजे एक चौकी पर भगवान महावीर स्वामी की तस्वीर विराजमान करें। रंगोली सजाकर मंगल कलश स्थापित करें। इसके बाद दीप प्रज्वलित कर महावीर अष्टक और चालीसा का पाठ करें। आसपास के लोगों को लड्‌डू का प्रसाद वितरित करें। शाम 6.45 बजे से 7 बजे तक बच्चे, युवा, महिलाएं और बुजुर्ग अपने घर पर दीपक जलाकर आरती और भक्तामर का पाठ करें। घर के मुख्य दरवाजे के बाहर रंगोली सजाकर उस पर दीपक रखकर दीपोत्सव मनाएं।

न्यू कॉलोनी में प्रवचन करते मुनिश्री विहर्ष सागर महाराज

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना