रेलवे स्टेशन यार्ड का मास्टर प्लान तैयार होगा, प्लेटफार्म नंबर 7 बनेगा

Gwalior News - रेलवे स्टेशन यार्ड का मास्टर प्लान बनेगा। साथ ही पुराने मॉल गोदाम को तोड़कर तीन लेयर की वाशिंग पिट बनेगी। यह जगह...

Feb 27, 2020, 07:25 AM IST

रेलवे स्टेशन यार्ड का मास्टर प्लान बनेगा। साथ ही पुराने मॉल गोदाम को तोड़कर तीन लेयर की वाशिंग पिट बनेगी। यह जगह इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (आईआरएसडीसी) को रेलवे ने देने से इनकार कर दिया है।
इसका कारण यहां पर तीन लेयर की वाशिंग पिट बनाने का रेलवे द्वारा प्रस्ताव तैयार करना है। यहां पर एलएचबी कोच वाली ट्रेनों की धुलाई होगी। इसके साथ ही कोचिंग काॅम्प्लेक्स व सिक लाइन भी यहीं पर तैयार होगी। इन सबका जायजा झांसी मंडल के डीआरएम संदीप माथुर ने बुधवार को लिया। इतना ही नहीं, भिंड और इटावा जाने ओर आने वाली ट्रेनों के लिए अलग प्लेटफार्म बनेगा।
यह प्लेटफार्म नंबर एक को जोड़कर आगरा एंड की तरफ बनाया जाएगा। इसका नाम प्लेटफार्म नंबर 7 दिया जाएगा। वहीं आरआरआई केबिन व प्लेटफार्म नंबर 4 पर बने बुकिंग आफिस की बिल्डिंग को तोड़कर प्लेटफार्म नंबर 4 और 5 बनाया जाना है। ग्वालियर शिवपुरी लाइन को सिथौली तक थर्ड लाइन के तौर पर उपयोग किया जाएगा। जबकि फोर्थ लाइन निकालने के लिए रेलवे को मशक्कत करनी पड़ रही है।

डीआरएम बोले-टॉयलेट की सफाई नहीं हो तो पे एंड यूज का टेंडर रद्द कर दो

रेलवे स्टेशन में बने 18 टॉयलेट्स की नियमित रूप से साफ-सफाई नहीं होने पर डीआरएम संदीप माथुर ने अफसरों से तल्ख अंदाज में कहा कि यदि पे एंड यूज टॉयलेट की सफाई नहीं कर रहा तो टेंडर निरस्त कर दें। इस पर अफसरों ने कहा कि दो टॉयलेट के यूज करने के बदले पे एंड यूज को राशि मिलती है। इसलिए ऐसे टॉयलेट की सफाई नियमित रूप से हो रही है। जबकि अन्य की सफाई करने में पे एंड यूज कंपनी रुचि नहीं ले रही। अफसरों ने कहा कि 15 अप्रैल तक पे एंड यूज का ठेके की अवधि पूरी हो रही है।

मुंबई-राजधानी का स्टापेज मिलना मुश्किल

मुख्यमंत्री कमलनाथ के पत्र के बाद भी मुंबई-निजामुद्दीन राजधानी का ग्वालियर को स्टापेज मिलना मुश्किल है। इस मामले में जब पत्रकारों ने डीआरएम से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि वह इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं करंेगे। दरअसल रेलवे का तर्क है कि झांसी-मथुरा ट्रैक पर रेलवे ट्रैफिक 40 फीसदी तक ज्यादा है। इस कारण इस ट्रेन का स्टापेज ग्वालियर को देना मुश्किल है।

1.50 करोड़ रुपए में नए ट्रेन और कोच डिस्प्ले बोर्ड लगेंगे

तीन साल से ग्वालियर स्टेशन के ट्रेन डिस्प्ले बोर्ड खराब पड़े हैं। साथ ही कोच इंडिकेशन बोर्ड भी कभी भी खराब हो जाते हैं। इससे यात्रियों की परेशानी बढ़ी हुई है। सबसे अधिक यात्री ट्रेन डिस्प्ले बोर्ड खराब होने से परेशान हैं। इस मामले को लेकर डीआरएम ने कहा कि ट्रेन डिसप्ले बोर्ड जल्द नए लगाए जाएंगे। इस काम में रेलवे 1.5 करोड़ रुपए खर्च करेगा। ट्रेन और कोच डिस्प्ले बोर्ड लगाने के लिए टेंडर प्रक्रिया चल रही है। साथ ही कहा कि ग्वालियर रेलवे स्टेशन का पूरा मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। यह प्लान रेलवे स्टेशन के आगामी 50 साल की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया जाएगा। निरीक्षण के दौरान वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर/ कैरिज एंड वैगन करूणेश श्रीवास्तव, वरिष्ठ सिग्नल एवं दूरसंचार इंजीनियर अमित गोयल, स्टेशन प्रबंधक पीपी चौबे, सहायक मंडल यांत्रिक इंजीनियर संजीव चावा, सहायक अभियंता अविलय यादव आदि मौजूद रहे।

रेलवे स्टेशन पर नक्शा देखते डीआरएम।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना