कर्बला के शहीदों को किया याद, हजरत इमाम हुसैन को पेश की खिराजे अकीदत

Gwalior News - चेहल्लुम के अवसर पर सागरताल में ताजिए दफनाने पहुंचे मुस्लिम समाज के लोग। सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर रातभर...

Oct 21, 2019, 07:31 AM IST
चेहल्लुम के अवसर पर सागरताल में ताजिए दफनाने पहुंचे मुस्लिम समाज के लोग।

सिटी रिपोर्टर | ग्वालियर

रातभर ताजियों के साथ गश्त करने के बाद मुस्लिम समाज के लोगों ने रविवार को हजरत इमाम हुसैन अली मुकाम की योमे शहादत पर 40वें दिन चेहल्लुम के अवसर पर खिराजे अकीदत पेश की। इस अवसर पर सागरताल स्थित कर्बला पर बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। मुस्लिम समुदाय के लोग मातमी धुनों के साथ ताजिए लेकर सागरताल पहुंचे थे। इस अवसर पर ग्रेटर ग्वालियर मोहर्रम अौर कर्बला इंतजामिया कमेटी के संयुक्त तत्वावधान में खिराजे अकीदत की मजलिश हुई।

शहरभर से मुस्लिम समुदाय के लोग ताजियों को लेकर कर्बला पहुंचे। यहां पर ताजियों को दफनाया गया अौर चेहल्लुम की रस्म अदा की गई। उपनगर ग्वालियर, मुरार, लश्कर, बहोड़ापुर अादि से ताजिए कर्बला पहुंचे। इसके अलावा पिछोरियों की पहाड़िया, ग्राम सिगोरा, पुरानी छावनी, शंकरपुर, अवाड़पुरा आदि में ताजिए दफनाए गए। ताजियों को दफनाने के लिए प्रशासन द्वारा विशेष व्यवस्थाएं की गई थीं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष अौर पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल ने कहा कि हजरत इमाम हुसैन अाली मकाम के यौमे शहादत के 40वें दिन चेहल्लुम की रस्म अदाएगी के अवसर पर कहा कि हम सभी भाईचारे की भावना से रहते हुए आगे बढ़ंे। हमें शिक्षा रूपी ज्ञान से अंधकार को मिटाना होगा। जो रास्ता हमें हजरत इमाम हुसैन द्वारा दिखाया गया है, हमें उसी रास्ते पर चलना होगा। सभी धर्मों का अादर करते हुए हर पर्व को मनाना होगा। कार्यक्रम में जीडीए के पूर्व उपाध्यक्ष अमर सिंह माहोर, निगम में नेता प्रतिपक्ष कृष्णराव दीक्षित, चतुर्भुज धनोलिया, लाल सिंह कुशवाह अादि उपस्थित थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना