देखाे, मैं जिंदा हूं, मेरे पास आधार कार्ड भी है...

Gwalior News - नदीपार टाल की अशाेक काॅलाेनी में रहने वाली शांति पूरी तरह भली-चंगी हैं, लेकिन गुरुवार को पति खुमान सिंह के साथ निगम...

Jan 24, 2020, 07:30 AM IST
Gwalior News - mp news see i am alive i also have an aadhaar card
नदीपार टाल की अशाेक काॅलाेनी में रहने वाली शांति पूरी तरह भली-चंगी हैं, लेकिन गुरुवार को पति खुमान सिंह के साथ निगम मुख्यालय पहुंची अपने जिंदा हाेने का सबूत देेने के लिए। दरअसल, शांति बाई को नगर निगम ने अपने रिकॉर्ड में मृत घोषित कर दिया है। परिवार की समग्र आईडी में उनके नाम के आगे मृत लिखने के साथ मृत्यु की तिथि 23 सितंबर 2018 दर्ज कर जा चुकी है। नतीजा- शांति बाई को मिल रही वृद्धावस्था पेंशन छह माह पहले निगम ने रोक दी। जब पेंशन रुकी तो शांति बाई और खुमान सिंह वार्ड दफ्तर में पता किया। निगम मुख्यालय में गईं तो पता चला कि सरकारी रिकॉर्ड में वे तो मर चुकी हैं। अब शांति बाई की जद्दोजहद खुद को जीवित करने की है। इसके लिए वे निगम मुख्यालय के चक्कर काट रही हैं, लेकिन निगम का मृत सिस्टम उनकी बात ढंग से सुनने के बाद भी उनकी पेंशन बहाली की काेशिश नहीं कर रहा है। गुरुवार को भी यही हुअा।

शांति बाई और खुमान सिंह को निगम दफ्तर में कुर्सियाें पर जमे बाबू यहां से वहां टरका रहे थे। दो पूर्व पार्षद बृजेश गुप्ता और भूपेंद्र मोगनिया को उन्होंने देखा तो अपनी पीड़ा कह सुनाई। दोनों ने निगम के अधिकारियों से कहा तो बाबू ने शांति बाई से उनकी पेंशन के दस्तावेज और आधार ले लिया। शांति बाई ने बताया कि उनकी समग्र आईडी नंबर 34361230 है। इस पर उनकी मृत्यु की तिथि डालकर किसी कर्मचारी ने अनिल वर्मा का नाम जोड़ दिया है। जबकि वे न अनिल को जानती हैं और न उनके परिवार से उसका ताल्लुक है।

आईडी अपडेशन पर सवाल

समग्र आईडी में अपडेशन के नाम पर कई खामियां सामने आ रहीं हैं। किसी का नाम बदला जा रहा है तो किसी का पता। यह पहला मामला है, जब बिना मृत्यु प्रमाण-पत्र जारी किए निगम की समग्र आईडी शाखा ने बुजुर्ग महिला को न सिर्फ मृत बता दिया बल्कि उनके मरने की तिथि तक डाल दी गई।

तकनीकी खामी से ऐसा हुआ


X
Gwalior News - mp news see i am alive i also have an aadhaar card

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना