कहीं भारत का नक्शा रोशन तो कहीं कैंडल उड़ाए

Gwalior News - ग्वालियर| कोरोना संक्रमण के अंधकार को हराने के लिए प्रधानमंत्री के आह्वान पर रविवार रात 9 बजे से 9 मिनट तक शहर में...

Apr 06, 2020, 07:05 AM IST
ग्वालियर| कोरोना संक्रमण के अंधकार को हराने के लिए प्रधानमंत्री के आह्वान पर रविवार रात 9 बजे से 9 मिनट तक शहर में घरों के गेट, छत एवं बालकनी में दीपक जलाए गए। टाॅर्च और माेबाइल की लाइट ऑन कर रोशनी की गई। इस दौरान लोगों ने शंख ध्वनि की और पटाखे भी चलाए। कहीं भारत का नक्शा बनाकर रोशनी की गई तो कहीं कैंडल जलाकर छोड़े गए। इस दौरान पुलिस ने भी अपनी भूमिका को सक्रिय तरीके से निभाया, जहां भी लोगों के इकट्‌ठे होने की आशंका दिखाई दी, पुलिसकर्मियों ने इकट्‌ठे होने की कोशिश कर रहे लोगों को उनकी हदें समझा दीं। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने भी मोबाइल की फ्लश लाइट जलाकर लोगों का साथ दिया। प्रधानमंत्री के आह्वान पर सांसद विवेक शेजवलकर, विधायक प्रवीण पाठक, पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया, पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भी अपने घरों पर दीपक जलाए।


भास्कर लाइव: 9 मिनट की जगह 30 मिनट तक बंद रखी लाइट, कई जगह पुलिस को बंद करानी पड़ी आतिशबाजी

{शिंदे की छावनी: लश्कर के इस क्षेत्र में शिंदे की छावनी, जयेंद्रगंज, पाटनकर चौराहा, दौलतगंज, सराफा बाजार, गश्त का ताजिया, फालका बाजार तक शायद की कोई ऐसा व्यक्ति रह गया हो जिसने कोरोना के खिलाफ अपने संकल्प को व्यक्त न किया हो। प्रत्येक घर में दीपक जले, कई घरों में 9 मिनट के समय का दायरा ही तोड़ दिया।

{इंदरगंज से कंपू: इंदरगंज से कंपू, दाल बाजार, लोहिया बाजार, जवाहर कॉलोनी और कंपू क्षेत्र में 9 बजते ही घरों की लाइट बंद कर दी गई थी लेकिन दीपकमालिकाओं ने अंधेरे का अहसास नहीं होने दिया। पूरे क्षेत्र में दीपक प्रज्वलित किए गए थे।

{गांधी रोड: यह शहर की वीवीआईपी रोड है यहां पर ज्यादातर अफसरों के बंगले हैं। अफसर और उनके परिजनों ने दीपक जलाए तो स्टाफ ने पटाखे भी फोड़ दिए।

{सिटी सेंटर: सिटी सेंटर, अनुपम नगर, सरस्वती, नगर, गोविंदपुरी, थाटीपुर, शिवाजी नगर, दर्पण कॉलोनी में भी दीपावली जैसा उत्साह लोगों दिखाया यहां पर दीपक जलाने के साथ-साथ लोगों ने जमकर पटाखे चलाए।

{मोतीमहल: शहर के मोतीमहल स्थित कंट्रोल कमांड सेंटर, जहां से पूरा शहर कंट्रोल होता है। खासकर कोरोना संक्रमण के मामले में। यहां भी ठीक 9 बजे बिजली बंद कर दी गई थी और कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने यहां पर दीपक जलाकर प्रशासन का संकल्प कोरोना संक्रमण के खिलाफ दिखाया।

{गोला का मंदिर: शहर के गोला का मंदिर और इसके आसपास की कॉलोनियों त्रिमूर्ति नगर, इंद्रमणि नगर, बैंक कॉलोनी और प्रगति विहार में युवाओं में ज्यादा ही उत्साह दिखाई दिया। यहां पर दीपक जलाने के साथ लोगों ने आतिशबाजी की। प्रगति विहार में काफी देर तक आतिशबाजी होती रही, यहां पर लोग इकट्‌ठे न हो जाएं इस आशंका के चलते पुलिस भी दखल देने के लिए पहुंच गई थी।

{बहोड़ापुर: विनय नगर, बहोड़ापुर, कोटेश्वर रोड, फाेर्ट व्यू काॅलोनी, डीआरपी लाइन और दुर्गा विहार कॉलोनी में लोगों ने दीपक जलाने के साथ ही दीपावली मना ली।

{उपनगर ग्वालियर: उपनगर ग्वालियर के किलागेट से लेकर चार शहर का नाका और मल्लगढ़ा चौराहे पर हर गली-मोहल्ले में दीपक जले और पटाखे भी चले। पुलिस को आशंका थी कि यहां पर गलियों के बाहर लोग इकट्‌ठे हो सकते हैं इसलिए पुलिस ने पूरी सक्रियता भी दिखाई लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं।

9 मिनट में खपत घटी तो ऐसे घटा बिजली का लोड

रविवार रात 8.55 बजे शहर में बिजली का लोड 112 मेगावाट था लेकिन रात 9 बजे बल्ब, एलईडी बंद होना शुरू हुए तो अगले 9 मिनट में ही यह लोड घटकर 62.8 मेगावाट पर आ गया। ऐसा होने पर बिजली सप्लाई ठप होने का अंदेशा था, लेकिन बिजली कंपनी ने पहले से ही तैयारी कर रखी थी। वोल्टेज को मैनेज करने वाले उपकरण केपिसिटर को शाम 6 बजे से ही सभी सब स्टेशनों पर बंद करना शुरू कर दिया था। इससे बढ़ा हुआ वोल्टेज स्वत: ही बैलेंस हो गया। इसके बाद रात 10 बजे से एक-एक करके केपिसिटर ऑन किए गए।

बहोड़ापुर पर भारत माता के नक्शे के साथ दीप प्रज्ज्वलित करतीं पूनम शर्मा।

मुरार में कैंडल उड़ातीं प्रीति कुशवाह।

बच्चों ने भी दीपक जलाकर उत्साह बढ़ाया।

लोहिया बाजार में घर की बालकनी पर दीपक जलातीं बुजुर्ग महिला।

आजाद नगर में 85 साल की शकुंतला देवी।

पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने भी दीए जलाकर दिया संदेश।

कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने भी दीपक जलाए।

उपनगर ग्वालियर निवासी जॉनसन परिवार के सदस्यों ने कैंडल से गो कोरोना गो का संदेश दिया।

स्नेहा अग्रवाल ने डेकोरेटिव दीपक और कैंडल जलाकर रोशनी की।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना