पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रजिस्ट्रार को ज्ञापन देकर बाहर निकले छात्र नेता, पुलिस ने 4 को किया गिरफ्तार

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जीवाजी यूनिवर्सिटी में मूल्यांकन अौर री-ओपनिंग में गड़बड़ी किए जाने का आरोप लगाने वाले एनएसयूआई के नेताओं को रजिस्ट्रार आईके मंसूरी को ज्ञापन देने के बाद बाहर निकलते ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव सचिन द्विवेदी, गोलू परमार, विशाल भदौरिया और पवन शर्मा को गिरफ्तार किया है। सीएसपी मुनीष राजौरिया के अनुसार, सचिन और गोलू पर वर्ष 2017 में हत्या के प्रयास तथा एक महीने पहले कैंटीन में तोड़फोड़ और एससी एसटी एक्ट का मामला विश्वविद्यालय थाने में दर्ज किया गया था। वहीं पवन शर्मा और विशाल भदौरिया को कैंटीन में तोड़फोड़ तथा एससी-एसटी एक्ट के मामले में गिरफ्तार किया गया है। न्यायालय में प्रस्तुत करने के बाद इन छात्र नेताओं को जेल भेज दिया गया।

बुधवार दोपहर लगभग 2 बजे एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव सचिन द्विवेदी के नेतृत्व में छात्र नेता रजिस्ट्रार आईके मंसूरी को ज्ञापन देने गए थे। छात्रों का कहना था कि जेयू में मूल्यांकन और पुनर्मूल्यांकन में गड़बड़ी की जा रही है, इसलिए आरवीआरटी सेल भंग कर गड़बड़ी के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इनका कहना था कि एलएलबी प्रथम सेमेस्टर में भारतीय संविधान पेपर में एमएलबी के छात्रों ने मूल्यांकन में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए रिव्यू की मांग की थी, लेकिन परीक्षा नियंत्रक डॉ. आरकेएस सेंगर ने इस मांग को खारिज कर दिया। इसके बाद छात्रों ने पुनर्मूल्यांकन कराया तो छात्रों के अंकों में बढ़ोतरी हो गई। जो छात्र फेल थे, वे पास हो गए। इसलिए पूरे मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें।

307 और एससी-एसटी एक्ट में की कार्रवाई
छात्र नेताओं को गिरफ्तार करती पुलिस।

रजिस्ट्रार से हुई नोक-झौंक: भंडारकर कक्ष में रजिस्ट्रार श्री मंसूरी और छात्र नेताओं के बीच नोक-झौंक हो गई। श्री मंसूरी ज्ञापन लेकर जाने लगे तो छात्र नेताओं ने कहा कि वे कार्रवाई चाहते हैं,उनके ज्ञापन के आधार पर नोटशीट बनाएं। रजिस्ट्रार ने कहा कि वह कुलपति से चर्चा करेंगे। छात्र नेताओं ने कहा जब तक नोटशीट पर जांच के आदेश नहीं किए जाते हैं, तब तक वह यहां से नहीं जाएंगे। श्री मंसूरी ने नोटशीट मंगवाई और ज्ञापन के आधार पर जांच के लिए लिखा।

पुलिस ने नाम पूछा और कहा आप गिरफ्तार किए जाते हैं
छात्र नेता सचिन द्विवेदी, गोलू परमार, विशाल भदौरिया और पवन शर्मा जैसे ही बाहर निकले वैसे ही सीएसपी मुनीष राजौरिया ने उन्हें रोक लिया। इनके नाम और पिता के नाम पूछे और कहा कि आपको गिरफ्तार किया जाता है। छात्र नेताओं को गिरफ्तार करने के दौरान हंगामा होने की आशंका पुलिस अफसरों को थी इसलिए पुलिस फोर्स का इंतजाम किया गया था। छात्र नेताओं ने कहा कि वह विरोध नहीं करेंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें