• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior News mp news the collectors of the division do not even have information about minerals cooperatives education alcohol and adulteration mafia

संभाग के कलेक्टरों के पास खनिज, सहकारिता, शिक्षा शराब और मिलावट माफिया की जानकारी तक नहीं

Gwalior News - संभागीय कमिश्नर एमबी ओझा ने ग्वालियर अंचल के ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर और श्योपुर जिले के कलेक्टर व विभिन्न...

Jan 16, 2020, 07:35 AM IST
Gwalior News - mp news the collectors of the division do not even have information about minerals cooperatives education alcohol and adulteration mafia
संभागीय कमिश्नर एमबी ओझा ने ग्वालियर अंचल के ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर और श्योपुर जिले के कलेक्टर व विभिन्न विभागों के अधिकारियों को बुलाकर बुधवार सुबह 10.30 बजे से लेकर शाम 5.30 बजे तक साढ़े 7 घंटे तक कलेक्टर काॅन्फ्रेंस ली। इस दौरान वह एंटी माफिया अभियान को विस्तार देने को लेकर कलेक्टरों व विभिन्न अधिकारियों से प्लान मांगते रहे, लेकिन अधिकारियों द्वारा भू-माफिया के अतिरिक्त खनिज, शराब और शिक्षा आदि क्षेत्र के माफिया की लिस्ट तक नहीं दी जा सकी। इस पर संभागीय कमिश्नर ने नाराजगी जाहिर की।

संभागीय कमिश्नर ने कहा कि भू-माफिया के अलावा अंचल में खनिज, सहकारिता, मिलावट, शिक्षा और शराब के क्षेत्र में माफिया के रूप में काम कर रहे लोग प्रदेश सरकार और आम लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं लेकिन अभी तक हम लोग भू-माफिया तक ही सीमित हैं। हमें अब इससे आगे बढ़कर एंटी माफिया अभियान को विस्तृत रूप देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अंचल की सभी गृह निर्माण समितियों और उनकी गतिविधियों की जांच की जाए। इनमें बड़े पैमाने पर घोटाले किए गए हैं। संभागीय कमिश्नर ने कहा कि माफी-औकाफ विभाग के मंदिर और उनसे लगी जमीनों को कब्जाने वाले माफिया पूरे अंचल में सक्रिय हैं इसलिए माफी-औकाफ के मंदिरों और इनसे लगी खुली भूमियों की पूरी लिस्टिंग कर लैंड बैंक तैयार करें। वहीं शासकीय भूमियों पर ट्रस्ट बनाकर काम करने वाले लोगों की गतिविधियों की भी जांच की जाए।

मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई थमनी नहीं चाहिए

संभागीय कमिश्नर ने कहा कि मिलावटखोरों के खिलाफ पूरे अंचल में प्रभावी कार्रवाई की गई है। इसी कारण दूध, मावा आदि में मिलावट के प्रकरणों में कमी आई है। लेकिन इसके कारण हमें बेफिक्र होकर नहीं बैठना चाहिए। जरूरी नहीं है कि आज सख्ती की वजह से जो लोग मिलावटखोरी नहीं कर रहे हैं, वे कल भी ऐसा नहीं करेंगे। जहां उन्हें लगेगा कि प्रशासन की कार्रवाई में ढिलाई आई है, लोग फिर से मिलावटखोरी बड़े पैमाने पर शुरू कर देंगे। इसलिए एक जिले से दूसरे जिले में भेजे जाने वाले दूध, मावा, पनीर आदि सभी की जांच नियमित तौर पर जिलों के कलेक्टर कराते रहें।

X
Gwalior News - mp news the collectors of the division do not even have information about minerals cooperatives education alcohol and adulteration mafia
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना