हमें अपनी परंपराअों व संस्कारों को नहीं भूलना चाहिए: अण्णा महाराज

Gwalior News - हमें कभी भी अपनी परंपराअों अौर संस्कारों को नहीं भूलना चाहिए। भारतीय परंपराएं अौर संस्कार विश्व में अन्यत्र कहीं...

Jan 09, 2020, 07:50 AM IST
Gwalior News - mp news we should not forget our traditions and rites anna maharaj
हमें कभी भी अपनी परंपराअों अौर संस्कारों को नहीं भूलना चाहिए। भारतीय परंपराएं अौर संस्कार विश्व में अन्यत्र कहीं देखने को नहीं मिलते हैं। हमें इन पर गर्व करना चाहिए। लेकिन अाज के दौर में युवा पाश्चात्य संस्कृति के पीछे भाग रहा है। इसके लिए सबसे बड़े दोषी माता-पिता ही हैं। यह बात ढोलीबुवा मठ में अायोजित ढोलीबुवा महाराज के 197वें समाधि महोत्सव में अण्णा मठ के मनीष अण्णा महाराज ने कही।

अण्णा महाराज ने कहा कि बच्चे में बचपन से ही संस्कारों का बीजारोपण करना चाहिए। छोटी उम्र में बच्चे जो सीखते हैं वो जीवन भर नहीं भूलते। आज के दौर में माता-पिता छोटे-छोटे बच्चों के हाथ में मोबाइल थमा देते हैं। बच्चे को मोबाइल चलाता देख वे बहुत ही खुश होते हैं। लेकिन बच्चों के हाथ में मोबाइल थमाना बहुत ही घातक है। इससे उनके स्वास्थ्य पर भी बहुत ही विपरीत प्रभाव पड़ता है। मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर का अधिक प्रयोग करने के कारण छोटे-छोटे मासूम बच्चों को मोटे-मोटे चश्मे लग रहे हैं। बचपन से संस्कार नहीं मिलने के कारण यही बच्चे अागे जाकर बड़ों का सम्मान भी नहीं करते। अपमान करने पर बाद में माता-पिता बच्चों को ही दोष देते हैं। लेकिन हकीकत यह है कि बच्चों द्वारा किए जा रहे इस व्यवहार के लिए वे ही पूरी तरह जिम्मेदार हैं। इस अवसर पर ढोलीबुवा मठ के मठाधीश सच्चिदानंद नाथ महाराज ने मनीष महाराज को शॉल-श्रीफल देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में प्रशांत इंगले, हेमंत नारले, प्रमोद लोहपात्रे, चंद्रकांत पुरंदरे आदि उपस्थित थे।

समाधि महोत्सव

मनीष महाराज का शॉल व श्रीफल भेंटकर सम्मान करते ढोलीबुवा मठ के मठाधीश सच्चिदानंदनाथ महाराज

X
Gwalior News - mp news we should not forget our traditions and rites anna maharaj

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना