पत्नी की हत्या कर लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखा- ससुराल वालों से तंग हूं

Gwalior News - एक ऑटो चालक और उसकी प|ी का शव घर में ही मिला है। ऑटो चालक फांसी के फंदे पर लटका हुआ था, जबकि प|ी जमीन पर पड़ी थी और उसके...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:25 AM IST
Gwalior News - mp news wife killed hanged wrote in suicide note tired of in laws
एक ऑटो चालक और उसकी प|ी का शव घर में ही मिला है। ऑटो चालक फांसी के फंदे पर लटका हुआ था, जबकि प|ी जमीन पर पड़ी थी और उसके मुंह-नाक से खून बह रहा था। जिस स्थिति में दोनों के शव मिले हैं, उससे आशंका जताई जा रही है कि पहले ऑटो चालक ने प|ी की हत्या की, इसके बाद खुद फांसी लगा ली। 5 महीने पहले ही दोनों की शादी हुई थी। शादी के बाद से ही दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होता था। तीन दिन पहले भी दोनों में झगड़ा हुआ था। जिस कमरे में इनकी लाश मिली, वह अंदर से बंद था। ऑटो चालक ने सुसाइड नोट भी लिखा है, जिसमें उसने अपनी प|ी की हत्या की बात नहीं लिखी है। उसने लिखा है- ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर यह कदम उठा रहा हूं। नीचे अपना और प|ी का नाम लिखा है। घटना बहोड़ापुर के गिर्राज कॉलोनी की है। पुलिस ने दोनों के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।

योगेश पुत्र नरेंद्र राजपूत (28) निवासी गिर्राज कॉलोनी ऑटो चालक था। उसकी शादी 22 जनवरी को मोतीझील के रहने वाले रमेश धाकड़ की बेटी रानी (25) से हुई थी। बुधवार रात को दोनों खाना खाकर अपने कमरे में सोने चले गए थे। योगेश के पिता नरेंद्र सिक्याेरिटी गार्ड हैं अाैर ड्यूटी पर गए थे। भाई अपने प|ी-बच्चों के साथ अपने कमरे में था। सुबह करीब 9 बजे नरेंद्र ड्यूटी से घर लौटकर अाए। उनका बड़ा बेटा बच्चों को लेकर पार्क में टहलने गया था। योगेश का कमरा अंदर से बंद था। उन्होंने दरवाजा खटखटाया लेकिन गेट नहीं खुला। उन्हें लगा योगेश और रानी सो रहे होंगे। कुछ देर इंतजार करने के बाद वह पड़ोस में रहने वाली महिला को बुलाकर लाए और रानी को जगाने को कहा। उसने भी दरवाजा खटखटाया, काफी देर तक आवाज लगाई। लेकिन जब गेट नहीं खुला तो खिड़की की तरफ रखा कूलर हटाया। कूलर हटाकर अंदर झांका तो योगेश फांसी के फंदे पर लटका था। जमीन पर रानी पड़ी हुई थी। यह देखकर तो पूरे घर में चीख-पुकार मच गई। सूचना मिलने पर टीआई बहोड़ापुर विवेक अष्ठाना, फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ.आनंद पांडेय पहुंचे। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा और अंदर जांच की। बिस्तर पर सुसाइड नोट मिला। योगेश ने साफी से फंदा बनाकर फांसी लगाई थी। रानी के गले में भी फंदे के निशान मिले और नाक-मुंह से खून निकला। इससे स्पष्ट है, उसकी भी मौत गला घोंटने से ही हुई है। गले पर नाखून के निशान भी मिले हैं।

कमरे का दरवाजा तोड़ती पुलिस।

कमरे का दरवाजा तोड़ती पुलिस।

सुसाइड नोट के अंश... मैं और रानी हम दोनों में मेरे ससुराल वाले ससुर-सास और रानी के मौसा-मौसी, फूफा-बुआ, उनके दोनों लड़के लड़ाई कराते थे। जब क्लेश होता तो ससुराल वाले धमकी देते कि रानी कुछ कर ले, बाद में हम देख लेंगे। इन सब से तंग आकर मैंने ये कदम उठाया। मेरे घरवाले निर्दोष हैं।

तीन दिन से भूखी थी बेटी

रमेश धाकड़ ने बताया कि शादी के बाद से ही उनकी बेटी को ससुराल में प्रताड़ित किया जाता था। उनका दामाद कुछ नहीं बोलता था, लेकिन अन्य परिजन परेशान करते थे। दहेज की मांग करते थे। कभी रुपए मांगते तो कभी जेवर। 3 दिन पहले दोनों में झगड़ा हुआ था। तभी से रानी भूखी थी। बुधवार रात को भी दोनों में झगड़ा हुआ था।

हमने कभी दहेज की मांग नहीं की


क्राइम रिपोर्टर | ग्वालियर

एक ऑटो चालक और उसकी प|ी का शव घर में ही मिला है। ऑटो चालक फांसी के फंदे पर लटका हुआ था, जबकि प|ी जमीन पर पड़ी थी और उसके मुंह-नाक से खून बह रहा था। जिस स्थिति में दोनों के शव मिले हैं, उससे आशंका जताई जा रही है कि पहले ऑटो चालक ने प|ी की हत्या की, इसके बाद खुद फांसी लगा ली। 5 महीने पहले ही दोनों की शादी हुई थी। शादी के बाद से ही दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होता था। तीन दिन पहले भी दोनों में झगड़ा हुआ था। जिस कमरे में इनकी लाश मिली, वह अंदर से बंद था। ऑटो चालक ने सुसाइड नोट भी लिखा है, जिसमें उसने अपनी प|ी की हत्या की बात नहीं लिखी है। उसने लिखा है- ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर यह कदम उठा रहा हूं। नीचे अपना और प|ी का नाम लिखा है। घटना बहोड़ापुर के गिर्राज कॉलोनी की है। पुलिस ने दोनों के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।

योगेश पुत्र नरेंद्र राजपूत (28) निवासी गिर्राज कॉलोनी ऑटो चालक था। उसकी शादी 22 जनवरी को मोतीझील के रहने वाले रमेश धाकड़ की बेटी रानी (25) से हुई थी। बुधवार रात को दोनों खाना खाकर अपने कमरे में सोने चले गए थे। योगेश के पिता नरेंद्र सिक्याेरिटी गार्ड हैं अाैर ड्यूटी पर गए थे। भाई अपने प|ी-बच्चों के साथ अपने कमरे में था। सुबह करीब 9 बजे नरेंद्र ड्यूटी से घर लौटकर अाए। उनका बड़ा बेटा बच्चों को लेकर पार्क में टहलने गया था। योगेश का कमरा अंदर से बंद था। उन्होंने दरवाजा खटखटाया लेकिन गेट नहीं खुला। उन्हें लगा योगेश और रानी सो रहे होंगे। कुछ देर इंतजार करने के बाद वह पड़ोस में रहने वाली महिला को बुलाकर लाए और रानी को जगाने को कहा। उसने भी दरवाजा खटखटाया, काफी देर तक आवाज लगाई। लेकिन जब गेट नहीं खुला तो खिड़की की तरफ रखा कूलर हटाया। कूलर हटाकर अंदर झांका तो योगेश फांसी के फंदे पर लटका था। जमीन पर रानी पड़ी हुई थी। यह देखकर तो पूरे घर में चीख-पुकार मच गई। सूचना मिलने पर टीआई बहोड़ापुर विवेक अष्ठाना, फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ.आनंद पांडेय पहुंचे। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा और अंदर जांच की। बिस्तर पर सुसाइड नोट मिला। योगेश ने साफी से फंदा बनाकर फांसी लगाई थी। रानी के गले में भी फंदे के निशान मिले और नाक-मुंह से खून निकला। इससे स्पष्ट है, उसकी भी मौत गला घोंटने से ही हुई है। गले पर नाखून के निशान भी मिले हैं।

Gwalior News - mp news wife killed hanged wrote in suicide note tired of in laws
X
Gwalior News - mp news wife killed hanged wrote in suicide note tired of in laws
Gwalior News - mp news wife killed hanged wrote in suicide note tired of in laws
COMMENT