श्योपुर / कूनो नेशनल पार्क में रणथंभौर के बाघ का दबदबा; गुजरात के शेरों का इंतजार



श्योपुर के कूनो में इसी हफ्ते नजर आया था बाघ टी-38। श्योपुर के कूनो में इसी हफ्ते नजर आया था बाघ टी-38।
X
श्योपुर के कूनो में इसी हफ्ते नजर आया था बाघ टी-38।श्योपुर के कूनो में इसी हफ्ते नजर आया था बाघ टी-38।

  • कूनो वन मंडल के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस सप्ताह ही टी-38 की तस्वीर सामने आई थी

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2019, 02:20 PM IST

श्योपुर. श्योपुर जिले में बना कूनो नेशनल पार्क अब भी भले ही गुजरात से आने वाले एशियाई शेरों की बाट जोह रहा हो, लेकिन यहां पिछले 9 साल से राजस्थान के रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान का एक बाघ टी-38 अपने एकछत्र राज कर रहा है।

 

कूनो वन मंडल के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस सप्ताह ही टी-38 की तस्वीर सामने आई थी। उन्होंने दावा किया कि उसका वजन, लंबाई और खूबसूरती देश में किसी भी बाघ को चुनौती दे सकती है। सूत्रों ने बताया कि एशियाई शेरों के दूसरे घर के रूप में तैयार किए गए 745 वर्गकिलोमीटर क्षेत्र के कूनो में शेरों के आने में भले देर हो रही है, पर यहां की आबोहवा दूसरे राज्यों के जानवरों के लिए मुफीद साबित हो रही है।

 

टी-38 साल 2010 में चंबल पार कर राजस्थान से यहां आया। उसके बाद से वो यहीं का हो कर रह गया। उन्होंने बताया कि राजस्थान की टीम ने बहुत जतन किये, पर बाघ नहीं हिला। वो यहां के जानवरों में से शिकार कर अपना राज स्थापित किए हुए है।  सूत्रों के मुताबिक इन वर्षों में कई बार रणथंभौर के और बाघ यहां आते रहते हैं। पर वे कुछ समय बाद चंबल के रास्ते लौट जाते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना