पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

किले से गिरकर एसएएफ जवान और युवती की मौत; युवती की 29 जनवरी को हुई थी शादी

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्वालियर किले से गिरकर युवक-युवती की मौत, पुलिस कर रही है जांच। (इनसेट में अरुण और वर्षा)
  • युवक की जेब से मिले कार्ड से हुई शिनाख्त, युवती अरुण कुमार के पड़ोस में रहने वाली वर्षा वर्मा थी
  • पुलिस मामले की जांच कर रही है, मामले को प्रेम प्रसंग से जोड़कर देखा जा रहा है
Advertisement
Advertisement

ग्वालियर. शहर में शुक्रवार को दहलाने वाली घटना हुई, जिसमें ग्वालियर किले से गिरकर एक युवक और युवती की मौत हो गई। युवक की पहचान एसएएफ के आरक्षक अरुण कुमार के रूप में हुई है। वहीं युवती की शिनाख्त वर्षा वर्मा के रूप में हुई है और वो एसएएफ जवान की पड़ोसी हैं। दोनों ही ग्वालियर के बिरला नगर में निवासी थे।


जानकारी के मुताबिक, ग्वालियर किले पर हर रोज की तरह पर्यटकों की चहल पहल थी। इसी दौरान किले के उरवाई गेट इलाके में दीवार से एक युवक और युवती तलहटी में चट्टान पर गिरे। करीब 150 मीटर की ऊंचाई से नीचे गिरने पर दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। फोर्ट व्यू कॉलोनी में रहने वाले लोगों ने घटना को देखा और पुलिस को जानकारी दी। बहोड़ापुर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। 

युवक की जेब से मिले कार्ड से हुई पहचान
युवक की जेब से मिले कार्ड से उसकी पहचान एसएएफ कॉन्स्टेबल अरुण कुमार आर्य के रूप में हुई है। वह ग्वालियर का रहने वाला था और इंदौर की 15 बटालियन में तैनात था। इस समय उसकी ड्यूटी उज्जैन में थी। युवती अरुण के पड़ोस में रहने वाली वर्षा वर्मा थी। 

29 जनवरी को हुई थी युवती की शादी
मृतक अरुण के रिश्तेदार भागीरथ ने बताया कि युवती वर्षा वर्मा की शादी 29 जनवरी को हुई थी। वो और अरुण अच्छे दोस्त थे। अरुण के बड़े भाई अनिल की इसी महीने 3 तारीख को शादी हुई थी और दो दिन पहले 5 फरवरी को रिसेप्शन था। शादी में सिलसिले में अरुण 26 जनवरी से 17 फरवरी तक छुट्टी लेकर आया था। बहोड़ापुर पुलिस थाना के जांच अधिकारी वीके सिह ने बताया कि दोनों मृतकों के परिजनों के बयान ले रहे हैं। पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है। हालांकि चर्चा इस बात को लेकर भी है कि दोनों के बीच प्रेम संबंध थे। 

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप कई प्रकार की गतिविधियों में व्यस्त रहेंगे। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आ जाने से मन में राहत रहेगी। धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण...

और पढ़ें

Advertisement