--Advertisement--

ग्वालियर में झा को काले झंडे दिखाए, धिक्कार पत्र सौंपा; रतलाम में रास्ता बदलकर आए भूरिया, फिर भी रोक ली कार

करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने विरोध में प्रदेश में कई जगह किए प्रदर्शन

ग्वालियर . प्रभात झा को काले झंडे दिखाते हुए सवर्ण समाज के लोग। ग्वालियर . प्रभात झा को काले झंडे दिखाते हुए सवर्ण समाज के लोग।
काले झंडे दिखाते करणी सेना के लोग। काले झंडे दिखाते करणी सेना के लोग।
शिक्षा मंत्री दीपक जोशी। शिक्षा मंत्री दीपक जोशी।
Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 01:00 AM IST

ग्वालियर. एससी, एसटी एक्ट के विरोध में उतरे सवर्ण-आेबीसी वर्ग के लोेगों ने रविवार को भाजपा की संभागीय बैठक में शामिल होने आए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सांसद प्रभात झा को काले झंडे दिखाने के साथ धिक्कार पत्र सौंपा। इससे पहले प्रदर्शनकारी सिटी सेंटर स्थित उनके निजी निवास पर भी प्रदर्शन करने पहुंचे थे।

 

मेला परिसर स्थित मंगल वाटिका में हुई  बैठक शामिल होने पहुंचे पूर्व मंत्री ध्यानेंद्र सिंह आैर सामान्य निर्धन वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष बालेंदु शुक्ल का घेराव कर उन्हें वापस लौटा दिया। 

 

विरोध प्रदर्शन देख वाटिक के गेट पर लगाना पड़ा ताला

प्रदर्शनकारियों को देखते हुए बैठक स्थल पर भारी पुलिस बल लगाने के साथ ही वाटिका क गेटों पर ताले भी डालने पड़े। बैठक में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान को भी आना था पर वे नहीं आए।

 

संसद में एक्ट का विराेध न करने पर भूरिया पर निकाली भड़ास

रतलाम. कांग्रेस के जिला सम्मेलन में आए सांसद कांतिलाल भूरिया को रविवार को एससी-एसटी एक्ट का विरोध कर रही करणीसेना ने काले झंडे दिखाए। इसके लिए सेना के कार्यकर्ताओं को भूरिया का डेढ़ घंटे तक इंतजार करना पड़ा। उन्होंने भूरिया द्वारा संसद में एक्ट का विरोध नहीं करने पर नाराजगी जताई।

 

विरोध की आशंका के चलते रविवार दोपहर रास्ता बदलकर विधायक सभागृह के पीछे से भूरिया की गाड़ी सम्मेलन स्थल बरबड़ हनुमान मंदिर पहुंची। यहां करणी सेना सदस्यों ने गाड़ी को घेर लिया और भूरिया को काले झंडे दिखा दिए।

 

मनासा में सांसद को कार्यकर्ता के घर में छिपना पड़ा

नीमच. एक कार्यक्रम में मनासा पहुंचे सांसद सुधीर गुप्ता को आक्रोश झेलना पड़ा। सपाक्स कार्यकर्ताओं ने काले झंडे बताए और घेरने का प्रयास किया। किसी तरह बचकर सांसद एक कार्यकर्ता के घर छिप गए।

 

मंत्री दीपक जाेशी बोले- जनता के फीडबैक पर लिया निर्णय, हम सरकार के साथ 

झाबुआ. स्कूली शिक्षा मंत्री दीपक जोशी ने एससी-एसटी एक्ट को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा- ‘सरकार ने जनता के फीडबैक के आधार पर निर्णय लिया है। हम जनप्रतिनिधि होने के नाते सरकार के साथ हैं।’ कांग्रेस के 10 सितंबर के बंद के आह्वान पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस महंगाई देखे हम जीडीपी देखते हैं।

 

जोशी झाबुआ में शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास की कार्यशाला में आए थे। जोशी ने कहा इस साल प्रदेश में एक हजार हायर सेकंडरी स्कूल भवन बनाए जाएंगे। जहां भवन नहीं हैं वहां 1.85 करोड़ रुपए स्वीकृत किए हैं। जहां थोड़े बहुत भवन हैं वहां के लिए हम एक करोड़ रुपए का बजट दिया है। 2003 में हमारे यहां 30 बच्चे 12वीं तक पहुंचते थे, अब 80 बच्चे 12वीं तक पहुंच रहे हैं। 

--Advertisement--