शिवपुरी / सीमांकन के एवज में रिश्वत लेते पटवारी को लोकायुक्त ने पकड़ा



shivpuri
X
shivpuri

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2019, 01:21 PM IST

शिवपुरी। शहर के नवाब रोड क्षेत्र में रहने वाले पटवारी को लोकायुक्त पुलिस ने उसी के घर दो हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। शिवपुरी तहसील में पदस्थ पटवारी द्वारा राजा की मुढेरी गांव के किसान से सीमांकन के एवज में छह हजार रुपए की रिश्वत पहले ही ले चुका था। किसान से दो हजार रुपए की रिश्वत और मांग रहा था। किसान ने लोकायुक्त में शिकायत कर दी और पटवारी को रंगे हाथ गिरफ्तार करा दिया। बता दें कि गुरुवार को ही लोकायुक्त पुलिस ने करैरा में टोडा पंचायत की सह सचिव को भी सरपंच से बीस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। 


लोकायुक्त ग्वालियर निरीक्षक एके चतुर्वेदी ने बताया कि ग्राम राजा की मुढेरी निवासी किसान मोहनसिंह भदौरिया ने 13 जून को एसपी लोकायुक्त को शिकायत की थी। जिसमें किसान का कहना था कि उन्हें जमीन का सीमांकन कराना है। सीमांकन के एवज में पटवारी मुकेश धाकड़ 2 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहे हैं। शिकायत के बाद वॉयस रिकार्डर देकर किसान को रवाना किया गया। वॉयस रिकार्डिंग करवाई, जिसमें दो हजार रुपए की रिश्वत मांगी की पुष्टि हुई।


शुक्रवार को टीम आई और पटवारी को उनके निवास पर दो हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है। पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 की धारा 7 कार्रवाई की जा रही है। लोकायुक्त टीम में टीआई चतुर्वेदी और टीआई राजीव गुप्ता के साथ-साथ एसआई सुरेश सिंह कुशवाह, कांस्टेबल जसबंत, क्लीयर सिंह, संतोष सिंह, हेमंत शर्म आदि शामिल हैं। बताया जा रहा है कि आरआई के नाम से पटवारी द्वारा रिश्वत मांगी जा रही थी। 


किसान बोला- एक पॉइंट के एक हजार तय, बड़े पॉइंट के दो हजार मांगने लगा: किसान मोहनसिंह ने बताया कि सीमांकन के नाम पर पटवारी एक पॉइंट के एक-एक हजार रुपए ले रहा था। लेकिन बड़े पॉइंट को लेकर दो हजार रुपए मांग रहा था। इसी बात को लेकर मुंहवाद तक हो गया। पटवारी का लालच बढ़ता देखकर उसने लोकायुक्त की शरण ली और पटवारी को रंगे हाथ रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार करा दिया। 


सीमांकन के लिए छह हजार रुपए पहले ही ले चुका : किसान का कहना है कि उसकी मुढेरी गांव में जमीन के सीमांकन के लिए पटवारी द्वारा 8 हजार रुपए मांगे जा रहे थे। पटवारी को अभी तक रिश्वत के रूप में 6 हजार रुपए दे चुका हूं। लोकायुक्त में शिकायत के बाद एसपी ने सिपाही के साथ मुझे वापस भेजा। वॉयस रिकार्डर में 1500 से लेकर 2 हजार रुपए लेनदेन की बात रिकार्ड हुई हैं। जिसमें पटवारी कुछ रकम आरआई को देने की बात भी कह रहा है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना