मुरैना / एक हजार करोड़ से पिपरई से निरावली तक 45 किमी में बनेगा सिक्सलेन हाईवे, दाे फ्लाईओवर भी प्रस्तावित

मुरैना में निर्माणाधीन सिक्सलेन हाइवे का ऐसा रहा रहेगा रूट। मुरैना में निर्माणाधीन सिक्सलेन हाइवे का ऐसा रहा रहेगा रूट।
X
मुरैना में निर्माणाधीन सिक्सलेन हाइवे का ऐसा रहा रहेगा रूट।मुरैना में निर्माणाधीन सिक्सलेन हाइवे का ऐसा रहा रहेगा रूट।

  • निर्माण : भारत माला प्रोजेक्ट के तहत मुरैना शहर और बानमोर नगर के बाहर सिक्सलेन बायपास बनाया जाएगा
  • केंद्र की भारत माला परियोजना में शामिल है सिक्सलेन हाईवे प्रोजेक्ट, इसमें 30 गांव के किसानों की जमीन ली जाएगी

दैनिक भास्कर

Feb 07, 2020, 07:37 PM IST

मुरैना. मुरैना से ग्वालियर के बीच 45 किमी लंबा सिक्सलेन हाईवे बनाए जाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। जयपुर की पेंटागन सोल्यूशन कंपनी ने इस प्रोजेक्ट की डीपीआर तैयार कर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण मुख्यालय को भेज दी है। यह सिक्सलेन पिपरई से लेकर निरावली तक बनाया जाएगा। यह भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत शहरों के बाहर से बायपास बनाकर तैयार किया जाएगा। पिपरई से निरावली के बीच दो फ्लाईओवर प्रस्तावित हैं। 1000 करोड़ रुपए की मंजूरी मिलते ही इस नए हाईवे की टेंडर प्रक्रिया की शुरूआत हाेगी।

नेशनल हाईवे-3 पर प्रतिदिन गुजर रहे वाहनों की पैसेंजर कार यूनिट 20,000 से बढ़कर 36000 तक जा पहुंची है। इसलिए फोरलेन हाईवे को सिक्सलेन में बदलने की जरूरत पर नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने काम शुरू कराया है। हाईवे के मानकों में मुरैना के लिए सिक्सलेन हाईवे की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए एनएच ने इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट जयपुर की पेंटागन सोल्यूशन कंपनी से तैयार कराई है।

भारत माला परियोजना में स्वीकृत है यह प्रोजेक्ट
केंद्र की भारत माला परियोजना में मुरैना का सिक्सलेन हाईवे प्रोजेक्ट शामिल है। इसमें 30 गांव के किसानों की जमीन ली जाएगी। मौटे तौर पर देखें तो मुरैना गांव क्षेत्र में सड़क किनारे की जमीनों के रेट पांच करोड़ प्रति हेक्टेयर के व जौरा खुर्द क्षेत्र में चार करोड़ रुपए प्रति हेक्टेयर के चल रहे हैं। मुरैना-ग्वालियर के बीच फोरलेन से प्रतिदिन 16 हजार वाहन गुजरते हैं। वाहनों का लाेड बढ़ने से लंबी दूरी के वाहन जाम में फंसते हैं। जिससे भाड़ा की डिलीवरी में देरी होती है।

30 से अधिक गांव की जमीन से होकर निकलेगा हाईवे
आसन नदी पर सिक्सलेन पुल बनने के बाद नया हाईवे एनएच-3 पर शुक्ला पेट्रोल पंप के पास जाकर फोरलेन में शामिल होगा। बानमोर में भी सिक्सलेन हाईवे के लिए ऊंचा पुल बनाया जाएगा। सिक्सलेन हाईवे पिपरई से शुरू होकर घरौना मंदिर होते हुए हिंगोना खुर्द, निवी, हासई मेवदा, मुरैना गांव, जौरा रोड स्थित महर्षि विद्या मंदिर, जौरी मौजा, जौरा खुर्द मौजा का खनेता, जौरा तहसील क्षेत्र का सिलायथा, मुरैना तहसील के डोमपुरा मौजा के डाबीपुरा होते हुए आसन नदी पर पहुंचेगा।

इतनी जमीन को जरूरत होगी हाइवे के लिए 

सिक्सलेन हाईवे के लिए एनएचएआई को 177 हेक्टेयर जमीन की जरूरत है। इसमें 145 हेक्टेयर जमीन किसानों की ली जाएगी और 32.021 हेक्टेयर सरकारी जमीन का उपयोग किया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना