अच्छी खबर / केंद्रीय विमानन मंत्रालय विस्तार के लिए पहले ही दे चुका है सहमति, एंट्री गेट को चौड़ा किया जाएगा

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

  • एयरपोर्ट विस्तार के लिए एयरफोर्स की सहमति, एयरपोर्ट के साथ होगा हवाई सेवा का विस्तार

दैनिक भास्कर

Feb 11, 2020, 02:24 PM IST

ग्वालियर। महाराजपुरा स्थित राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट का विस्तार किए जाने के लिए एयरफोर्स प्रबंधन ने सहमति दे दी है और इसके लिए विधिवत लिखित में डिटेल प्रस्ताव मांगा गया है। जो कि ग्वालियर जिला प्रशासन व एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा तैयार किया जाएगा। अफसरों के अनुसार, ये प्रस्ताव अगले हफ्ते तक एयरफोर्स प्रबंधन के पास पहुंच जाएगा और वहां से अनुमति मिलने के बाद एयरपोर्ट विस्तार के लिए काम शुरू कराया जाएगा। इससे पहले जनवरी में भारत सरकार के विमानन मंत्रालय ने भी एयरपोर्ट विस्तार के लिए स्वीकृति दे दी थी और एयरफोर्स से अनुमति मिलने के इंतजार में विस्तार का काम अटका हुआ था। विस्तार होने के बाद ग्वालियर एयरपोर्ट से बोइंग पैसेंजर प्लेन उड़ाने की तैयारी है और इसके साथ ही एयरपोर्ट पर सुविधाएं बढ़ेंगी।


एयरपोर्ट के विस्तार और बोइंग उतारे जाने को लेकर नवंबर में बैठक हुई थी। इस बैठक में तय हुआ कि विस्तार में इंफ्रास्ट्रक्चर का जो भी काम कराया जाएगा उनका खर्च नगर निगम द्वारा उठाया जाएगा। इस बैठक में एयरबेस स्टेशन के अधिकारियों के साथ एयरपोर्ट अथॉरिटी, जिला प्रशासन, नगर निगम व पुलिस विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट महाराजपुरा एयरबेस स्टेशन से भी जुड़ा हुआ है। एयरबेस के जिस भाग से विमान एयरपोर्ट क्षेत्र में अाते-जाते हैं, वह एंट्री गेट छोटा है और वहां से बोइंग 737 व ए-320 जैसे यात्री विमान आ-जा नहीं सकते। इसलिए ये गेट दोनों तरफ 5-5 मीटर और अधिक चौड़ा करना होगा। साथ ही सुरक्षा दीवार को नए सिरे से बनाया जाएगा।

बोइंग संचालन के लिए एयरपोर्ट पर टैक्सी ट्रैक “एच’ को 4 मीटर और चौड़ा कर नॉन व्हीरिंग सरफेस को तैयार करना होगा। ताकि एफओडी इन्गेशन से बचा जा सके। बोइंग में 7, 8, 9 व 10 डिजाइन आते हैं और इनमें 172 से 230 तक सीट होती हैं। ग्वालियर से किस बोइंग की सर्विस शुरू होगी, इस पर निर्णय विस्तार के बाद किया जाएगा।

ग्वालियर से अभी दिल्ली, बैंगलुरू, जम्मू, हैदराबाद और कोलकाता के लिए फ्लाइट हैं। ये सभी छोटे साइज की हैं और इनके हिसाब से एयरपोर्ट पर अभी सुविधाएं हैं। लेकिन जब बोइंग यहां से शुरू होंगे तो इंफ्रास्ट्रक्चर और सुरक्षा समेत अन्य सुविधाएं बढ़ानी जरूरी होंगी।


डिटेल में प्रस्ताव मांगा है, जिसे अगले हफ्ते दे दिया जाएगा

एयरपोर्ट का विस्तार करने और बोइंग संचालन को लेकर एयरफोर्स स्टेशन प्रबंधन से सहमति मांगी गई थी। जो कि प्रबंधन ने दे दी है और अब डिटेल में पूरा प्रस्ताव मांगा है जिसे अगले हफ्ते तक दे दिया जाएगा। उसके बाद एयरफोर्स से अनुमति आने के बाद विस्तार की प्रक्रिया शुरू कराएंगे। इस मामले में भारत सरकार के विमानन मंत्रालय ने अपनी सहमति पहले ही दे दी थी। ये सभी काम होने से ग्वालियर में एयरपोर्ट के साथ हवाई सेवाओं का अच्छा विस्तार हो सकेगा। - अनुराग चौधरी, कलेक्टर
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना