--Advertisement--

खेतों में नरवाई जलाने से नष्ट होते हैं मित्र कीट

कलेक्टर ने नरवाई जलाने पर लगाई रोक, होगी एफआईआर भास्कर संवाददाता| हरदा जिले में गेहूं कटाई के बाद खेत में बची...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:40 AM IST
कलेक्टर ने नरवाई जलाने पर लगाई रोक, होगी एफआईआर

भास्कर संवाददाता| हरदा

जिले में गेहूं कटाई के बाद खेत में बची नरवाई काे उचित तरीके से नष्ट करें। नरवाई को किसान जलाएं नहीं। इससे मिट्‌टी में मौजूद पोषक तत्व व मित्र कीट नष्ट होते हैं। इससे जमीन की उर्वरा शक्ति कमजोर होती है। कृषि विभाग ने जिले के किसानों से नरवाई नहीं जलाने का आग्रह किया है। कलेक्टर अनय द्विवेदी ने नरवाई जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। आदेश के बाद भी नरवाई जलाने पर संबंधित के खिलाफ एफआईआर तक की जा सकती है। सहायक संचालक कृषि कपिल बेड़ा ने बताया नरवाई जलाने से धरती में मौजूद करीब 5000 प्रजातियों के मित्र कीट मर जाते हैं। ये मित्र कीट जमीन की उर्वरा शक्ति बढ़ाने में सहायक होते हैं। उन्होंने कहा किसान नरवाई से भूसा बना सकते हैं। इससे किसान करीब 3000 रुपए प्रति हेक्टेयर का लाभ कमा सकते हैं। उन्होंने बताया खेत में गेहूं उत्पादन कर करीब 1.5 गुना भूसा होता है। उन्होंने बताया नरवाई की आग से खेतों की मेढ़ पर लगे पेड़-पौधे जल जाते हैं। इसके अलावा जन व धन हानि की आशंका भी बनी रहती है। उन्होंने किसानों से खेतों की नरवाई नहीं जलाने का आग्रह किया है।