हरदा

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Harda News
  • परीक्षा के दौरान तनाव पर रखें नियंत्रण अभिभावक औरों से न करें बच्चों की तुलना
--Advertisement--

परीक्षा के दौरान तनाव पर रखें नियंत्रण अभिभावक औरों से न करें बच्चों की तुलना

पढ़ाई की आपाधापी, एक पर्चा बिगड़ते ही डिप्रेशन, मनोरंजन के लिए समय नदारद और थका देने वाला शेड्यूल। विद्यार्थियों...

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:05 AM IST
पढ़ाई की आपाधापी, एक पर्चा बिगड़ते ही डिप्रेशन, मनोरंजन के लिए समय नदारद और थका देने वाला शेड्यूल। विद्यार्थियों पर इन दिनों जैसे पढ़ाई का जुनून सवार है। कोई टहलते हुए पढ़ाई करता नजर आ रहा है तो कोई स्टडी रूम में। स्कूलों में पढ़ाई के अलावा घर पर करीब 6 से 8 घंटे पढ़ाई का शेड्यूल बनाकर विद्यार्थी मिशन एक्जाम में जुटे हुए हैं।

गुरुवार से बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो गईं। विद्यार्थियों का शेड्यूल परीक्षा के नाम से ही बदल गया। विद्यार्थी परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन की चिंता में हैं। इधर पालक विद्यार्थियों की नींद व संतुलित भोजन को लेकर चिंतित हैं। लोकल परीक्षाओं की भी तैयारियां चल रही हैं। ऐसे में विद्यार्थी तैयारियों में तो लगे हैं लेकिन परीक्षा की टेंशन से तैयारी प्रभावित हो रही है। हालांकि एक्सपर्ट्स का कहना है कि बेहतर सफलता के लिए तनाव को नियंत्रित करना बेहद जरूरी है।

इन तनावों से जूझ रहे हैं विद्यार्थी

छात्र इन दिनों नींद न आना, पाचन में दिक्कत, पीठ व गर्दन में दर्द, सिरदर्द व भारीपन, आलस्य, सांस लेने में तेजी, थकान, आत्मविश्वास की कमी आदि की समस्याओं से जूझ रहे हैं।



Click to listen..