• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Harda News
  • आज से सरकारी स्कूलों में चार्ट, रंगीन पेंसिल और चित्रों से होगी पढ़ाई, अंताक्षरी से सीखेंगे बारहखड़ी
--Advertisement--

आज से सरकारी स्कूलों में चार्ट, रंगीन पेंसिल और चित्रों से होगी पढ़ाई, अंताक्षरी से सीखेंगे बारहखड़ी

इस बार प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सरकार न केवल अप्रैल से स्कूल शुरू कर रही है। बल्कि जिले के 826 प्राइमरी व मिडिल...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:20 AM IST
इस बार प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सरकार न केवल अप्रैल से स्कूल शुरू कर रही है। बल्कि जिले के 826 प्राइमरी व मिडिल स्कूलों में जॉयफुल लर्निंग की शुरुआत कर रही है। इसके तहत बच्चों को पढ़ाई बोझ न लगे, इसके लिए दो माह तक बच्चों को चार्ट, रंगीन पेंसिल, चित्र और दूसरी चीजों के जरिए को रोचक तरीके से हिंदी व गणित सिखाया जाएगा। जिले के स्कूलों में इस पैटर्न से पढ़ाई के लिए प्रधानाध्यापक और शिक्षकों को खास प्रशिक्षण भी दिया है।

इस बार सरकारी स्कूलों में नए शिक्षण सत्र 2018-19 की शुरुआत 2 अप्रैल से हो रही है। इसके तहत बच्चों को तिलक लगाकर प्रवेश कराया जाएगा। वहीं बच्चों की पढ़ाई को आसान व मनोरंजक बनाने के लिए कई तरह की एक्टिविटी कराई जाएगी। इसके तहत जिले के 1543 प्राइमरी व 283 मिडिल स्कूलों में वर्णमाला, गिनती, जानवर, पक्षियों सहित अन्य तरह के चार्ट, रंगीन पेंसिलों से चित्रकारी और अलग-अलग तरह के चित्रों व कविताओं के साथ कई तरह की गतिविधियां आयोजित होंगी। इन मनोरंजक गतिविधियों के जरिए बच्चों को खेल जैसा अहसास कराते हुए पढ़ने की प्रक्रिया आसान बनाई जाएगी।

नई पहल

सीखने-सिखाने के लिए 30 जून तक नए पैटर्न पर चलेगी पढ़ाई

पहेली से ढूंढेंगे वर्णमाला, मनोरंजक होगी पढ़ाई

मनोरंजक तरीके से सिखाने के लिए स्कूलों में कई गतिविधियां आयोजित होंगी। जैसे शब्द अंताक्षरी के जरिए नए शब्दों को सीखने और जोड़ने की कला सिखाई जाएगी। डीपीसी आरएस तिवारी ने बताया यह पैटर्न 30 जून तक चलेगा।