--Advertisement--

मां की जागरूकता ही बच्चे को बचा सकती है कुपोषण से: गीता पांडे

कुपोषण केवल पौष्टिक भोजन की कमी से ही नहीं होता है बल्कि मां की जागरूकता की कमी भी इसका एक कारण है। यह बात लाडो...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:45 AM IST
कुपोषण केवल पौष्टिक भोजन की कमी से ही नहीं होता है बल्कि मां की जागरूकता की कमी भी इसका एक कारण है। यह बात लाडो अभियान की ब्रांड एंबेसडर गीता पांडे ने कही। वे गुरुवार को अस्पताल के पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कुपोषित बच्चों की माताओं और वार्ड 28 की हाई रिस्क महिलाओं की काउंसलिंग कर समझाइश दे रही थीं। पांडे ने कहा भाेजन में विटामिन, कैल्शियम, आयरन आदि की कमी से होता है। आहार में जब इसकी कमी रहती है तो धीरे-धीरे कुपोषण शरीर को घेरने लगता है।

पांडे ने समझाइश दी घर में भी पौष्टिक भोजन रहता है, लेकिन जानकारी के अभाव में महिलाओं को इसकी जानकारी नहीं रहती है। यदि वे दाल, दलिया आदि का उपयोग करें ताे कुपोषण से बचा जा सकता है। उन्होंने एनआरसी में भर्ती 10 बच्चों की माताओं को अन्य जानकारी दी। इधर वार्ड 28 की आंगनबाड़ी में उन्होंने महिलाओं को समझाइश दी कि वे समय समय पर आंगनबाड़ी केंद्रों में जाकर वजन कराएं। संतुलित पौष्टिक आहार दें। उम्र के अनुसार ऊंचाई व वजन का ध्यान रखें, जिससे समय रहते एेसी स्थितियों से बचा जा सके।

हरदा। एनआरसी में जानकारी देती हुईं पांडे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..