• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Harda
  • दुश्मन को फंसाने मां बाप ने गढ़ी बेटी के अपहरण की झूठी कहानी, 2 थानों की पुलिस 2 घंटे होती रही परेशान
--Advertisement--

दुश्मन को फंसाने मां-बाप ने गढ़ी बेटी के अपहरण की झूठी कहानी, 2 थानों की पुलिस 2 घंटे होती रही परेशान

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:55 PM IST

Harda News - हरदा। आरोपी माता-पिता से पूछताछ करते टीआई। एक घंटे तक जंगल में भटकती रही पुलिस टीम टीआई सिद्दकी और एसआई...

दुश्मन को फंसाने मां-बाप ने गढ़ी बेटी के अपहरण की झूठी कहानी, 2 थानों की पुलिस 2 घंटे होती रही परेशान
हरदा। आरोपी माता-पिता से पूछताछ करते टीआई।

एक घंटे तक जंगल में भटकती रही पुलिस टीम

टीआई सिद्दकी और एसआई ठाकुर ने बताया मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी जगदीश और अन्य को पकड़ने के लिए नाकेबंदी शुरू की। इसी बीच छात्रा के माता-पिता को लेकर वे मौका स्थल जामली के कच्चे रास्ते पर पहुंचे। पिता के बताए अनुसार आरोपियों की तलाश में जंगल और पहाड़ी तक का रास्ता पुलिस ने जीप व पैदल तय किया। इसके बाद भी आरोपियों का कोई सुराग नहीं मिला। रास्ते में मिले ग्रामीणों से भी पूछताछ की। लेकिन कहीं कोई पता नहीं चला। छात्रा के पिता की बाइक भी नहीं मिली। इसके बाद पुलिस को संदेह हुआ और माता-पिता दोनों से अलग-अलग पूछताछ की।

मुझे क्यों ले जा रहे हो अंकल, मैंने तो कुछ भी नहीं किया

मुंहबोले मामा की सगाई में दो सहेलियों और मामी के साथ गई छात्रा को लाने के लिए दोपहर को कायागांव में पुलिस पहुंची। पुलिस को सामने देखते ही छात्रा सकते में आ गई। वह पुलिस के साथ आने को तैयार नहीं हुई। उसने टीआई सिद्दकी से कहां कि मुझे क्यों ले जा रहे हो, मैंने तो कुछ भी नहीं किया। पुलिस ने जैसे-तैसे उसे समझाया। दो परिजनों के साथ पुलिस छात्रा को लेकर सिविल लाइन पुलिस चौकी पहुंची।

लोटिया पहुंचे तो पता चला छात्रा सगाई में कायागांव गई है

माता-पिता पर संदेह के बाद हंडिया टीअाई सिद्दकी लोटिया पहुंचे। उन्होंने छात्रा की दादी से पूछताछ की। इसमें उन्हें सच्चाई का पता चला तो वे आश्चर्यचकित रह गए। दादी ने उन्हें बताया कि पोती तो मुंहबोले मामा की सगाई में कायागांव गई है। इसके बाद पुलिस की जान में जान आई।

X
दुश्मन को फंसाने मां-बाप ने गढ़ी बेटी के अपहरण की झूठी कहानी, 2 थानों की पुलिस 2 घंटे होती रही परेशान
Astrology

Recommended

Click to listen..