• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Harda News
  • Harda - दो बार भूमिपूजन, 10 साल में 5 बार टेंडर फिर भी नहीं बना सिराली-केलनपुर मार्ग
--Advertisement--

दो बार भूमिपूजन, 10 साल में 5 बार टेंडर फिर भी नहीं बना सिराली-केलनपुर मार्ग

जनप्रतनिधियों, अधिकारियों की उदासीनता व कमजोर इच्छाशक्ति के चलते सिराली- केलनपुर मार्ग का निर्माण दस साल बाद भी...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:05 AM IST
जनप्रतनिधियों, अधिकारियों की उदासीनता व कमजोर इच्छाशक्ति के चलते सिराली- केलनपुर मार्ग का निर्माण दस साल बाद भी नहीं हो सका। 18 किमी सड़क निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी ने 5 बार टेंडर कॉल किए। एक बार निर्माण भी शुरू हुआ, लेकिन फिर बंद हो गया। दस साल में लागत 6.38 करोड़ से बढ़कर 12 करोड़ रुपए हो गई। अधूरे निर्माण से बारिश के दिनों में 12 से अधिक गांवों के ग्रामीणों का आवागमन मुश्किल हो जाता है। हरदा व टिमरनी विधानसभा से निकलने वाले इस मार्ग निर्माण की मंजूरी मिलने के बाद जनप्रतिनिधियों में होड़ लग गई थी। टिमरनी विधायक संजय शाह ने 1 अप्रैल 2018 को सिराली व तत्कालीन विधायक कमल पटेल ने 4 अप्रैल को केलनपुर में भूमिपूजन किया था। लेकिन इसके बाद से कोई सुध नहीं ली।

जानकारी के मुताबिक वर्ष 2008 में सिराली में आयोजित जनसभा में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सिराली-केलनपुर मार्ग निर्माण की घोषणा की थी। इसके बाद पीडब्ल्यूडी ने 18 किमी मार्ग निर्माण के लिए टेंडर कॉल किए। इस मार्ग की लागत उस दौरान 6 करोड़ 38 लाख रुपए थी। 5 बार टेंडर निकालने के बाद भी मार्ग का निर्माण पूरा नहीं हो सका। इसमें 6 पुल-पुलियाएं भी शामिल हैं। पीडब्ल्यूडी भी इस मार्ग का निर्माण नहीं करा पाया। छह माह पहले ही मार्ग निर्माण की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना विभाग को सौंप दी। टेंडर बुलाए गए। अधिकारियों का दावा है कि बारिश खत्म होते ही निर्माण शुरू करा दिया जाएगा। अब चुनाव नजदीक आते ही ग्रामीणों को फिर मार्ग निर्माण की आस बंधी है।

हरदा। दो बार भूमिपूजन और दस साल में बाद इस तरह जर्जर है सड़क।

सड़क एक नजर में

वर्ष 2008 में : विभाग पीडब्ल्यूडी

सिराली-केलनपुर मार्ग

लंबाई 15 किमी

लागत 6.38 करोड़ रुपए

वर्ष 2018 में : विभाग प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

लंबाई 18 किमी

लागत 12 करोड़

श्रेय लेने चार दिन में दो बार हुआ था भूमिपूजन

वर्ष 2008 में सिराली-केलनपुर मार्ग निर्माण को मंजूरी मिलते ही टिमरनी विधायक संजय शाह व तत्कालीन हरदा विधायक कमल पटेल में श्रेय लेने की होड़ लग गई थी। इसी के चलते दोनों ने अलग-अलग भूमिपूजन भी किया। तत्कालीन व वर्तमान टिमरनी विधायक संजय शाह 1 अप्रैल व तत्कालीन हरदा विधायक कमल पटेल ने 4 अप्रैल को सड़क निर्माण के लिए भूमिपूजन किया था।

जन उपयोगी लोक अदालत ने जारी किए थे नोटिस

सड़क का तय समय में निर्माण नहीं होने पर जन उपयोगी लोग अदालत में याचिका दायर की। इसमें सुनवाई करते हुए 26 जून 2016 को न्यायाधीश ने 6 अफसरों को नोटिस जारी किए थे। इसमें मुख्य सचिव लोक निर्माण विभाग भोपाल, विभाग के प्रमुख अभियंता, कार्यपालन यंत्री, एसडीओ खिरकिया व उपयंत्री खिरकिया शामिल थे। इसके बाद न्यायालय ने 8 माह में काम करने के आदेश दिए थे।

10 साल में 6.38 से 12 करोड़ हो गई लागत

जानकारी के मुताबिक हरदा-मगरधा रोड़ से खामापड़वा-सुखरास-डगावाशंकर होते हुए सिराली तक 18 किमी मार्ग के लिए टेंडर काॅल किए हैं। इसकी लागत 12 करोड़ रुपए है। वर्ष 2008 में इस मार्ग निर्माण की लागत 6.38 करोड़ रुपए थी। दस साल में लागत भी दो गुना हो गई है।

इन गांवों को होगा सीधा फायदा

सिराली-केलनपुर मार्ग निर्माण से सिराली, केलनपुर के अलावा डगावाशंकर, घोंघड़ा, खामापड़वा, सुखरास, गहाल, रोलगांव, कुकरावद, रहटा, बम्हनगांव सहित अन्य गांवों के ग्रामीणों को आवागमन की सुविधा मिलेगी।

बारिश खत्म होते ही निर्माण शुरू करा देंगे