पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धर्म... मनुष्य को देव बनने के लिए कथा सुनने की आवश्यकता : मनावत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बालागांव| नकवाड़ा गांव में गुरुवार को कलश यात्रा निकालकर श्रीराम कथा का शुभारंभ हुआ। कलश यात्रा सुबह 8 बजे से निकली। कथा वाचक शाजापुर जिले के कालापीपल गांव निवासी श्याम स्वरूप मनावत ने दोपहर 12 बजे से कथा शुरू की। उन्होंने कहा देव बनने के लिए कथा सुनने की आवश्यकता है, बोलने की नहीं। देव बनना है तो पहले सुनना सीखें। इंसान गर्भ में सिर्फ सुन सकता है, बोल नहीं सकता। ईश्वर ने सुनने के लिए दो कान दिए हैं। देखने के लिए दो आंखें दी हैं, लेकिन बोलने के लिए एक जीह्वा दी है। सुन सभी को सकते हैं। इसलिए कान में कोई ढक्कन नहीं दिया। अच्छा, बुरा देखने के लिए आंख में शटर यानी पलक दी है। और बोलने के लिए दो तालों के बीच में जुबान दी है। कथा का समापन 5 दिसंबर को होगा। ग्रामीण निर्भयदास, डाॅ. अमरदास छापरे परिवार कथा का आयोजन कर रहा है। शोभायात्रा के दौरान कथा वाचक, आयोजक परिवार के सदस्य, बालिकाएं, महिलाएं व बड़ी संख्या में पुरुष शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...