हरदा

--Advertisement--

तीन दिन में युवक का शव मारने लगा बदबू

बहन के इंतजार में परिजनों ने फ्रीजर में रखा था शव भास्कर संवाददाता। हरदा जिला अस्पताल प्रबंधन की एक ओर...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:25 AM IST
बहन के इंतजार में परिजनों ने फ्रीजर में रखा था शव

भास्कर संवाददाता। हरदा

जिला अस्पताल प्रबंधन की एक ओर लापरवाही सोमवार को उजागर हुई। युवक की मौत के बाद परिजनों ने शव को फ्रीजर में रखवा दिया था। ताकि जब बहन आए तो भाई का चेहरा देख सके। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने फ्रीजर को बंद कर दिया। इससे युवक के शव बदबू मारने लगा। जब बहन आई तो भाई का शव देखते समय बदबू के कारण परिजनों का खड़ा होना मुश्किल गया। जब परिजनों को सामने ऐसी स्थिति आई तो वे आक्रोशित हो गए। उन्होंने कहा आखिर शव को सुरक्षित रखने के लिए फ्रीजर में रखवाया था।

मालूम हो कि आशीष बिल्लोरे ने 13 अप्रैल की रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद युवक का पीएम किया। परिजनों ने सोचा की चेन्नई से जब तक बहन आती है तब तक युवक के शव का जिला अस्पताल के फ्रीजर में रख दिया जाए, जिससे कि बहन भाई का चेहरा देख सके। तीन दिन बाद जब बहन सोमवार को आई तो परिजन युवक का शव लेने जिला अस्पताल पहुंचे। जहां फ्रीजर के बंद होने से शव बदबू मारने लगा। इससे परिजन आक्रोशित हो गए। उनका कहना है कि अंतिम संस्कार से पूर्व बहन अब ऐसी हालत में भाई का चेहरा कैसे देखेगी। शव को सुरक्षित रखने के लिए ही फ्रीजर में रखा था। अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से यह स्थिति बनी है। कर्मचारियों ने शव की देखभाल नहीं की है।

लापरवाही करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी


Click to listen..