हम्माली Rs.9.76 तय, मिल रहे आधे तो हम्माल भागे, पांच दिन से तुलाई नहीं होने पर किसानों का हंगामा

Harda News - जैन वेयर हाउस में विवादों का दौर थम नहीं रहा है। आए दिन किसान व वेयर हाउस संचालक गौतम जैन के बीच विवाद हो रहे हैं।...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:46 AM IST
Harda News - mp news hammali rs976 fixed himalaye ran halfway the farmers39 agony if they were not to be deployed for five days
जैन वेयर हाउस में विवादों का दौर थम नहीं रहा है। आए दिन किसान व वेयर हाउस संचालक गौतम जैन के बीच विवाद हो रहे हैं। तुलाई नहीं होने से नाराज किसानों ने शुक्रवार दोपहर को हंगामा खड़ा कर दिया। किसान रामशंकर ने कहा कि वे रविवार रात से चना ट्रॉली लेकर आए हैं। लेकिन तुलाई नहीं हुई। किसान समरत सिंह ने कहा कि अधिकारी व्यवस्था नहीं बना पा रहे हैं। किसानों का कहना है खरीदी केंद्र कलेक्टोरेट से 100 मीटर दूर है ताे यहां यह हाल है ताे दूसरे केंद्रों पर क्या हाेगा है।

हरदा। वेयर हाउस में आक्रोशित किसान।

वेयर हाउस संचालक गौतम जैन ने खरीदी बंद करने की दी धमकी

किसान रामौतार ने बताया कि आठ दिन पहले ही भाई के घर शादी हुई है। उन्हें कर्ज चुकाना है। लेकिन 5 दिन से चना की तुलाई नहीं हो पा रही है। तुलाई की मांग की तो वेयर हाउस संचालक गौतम जैन ने खरीदी बंद करने की धमकी दी। अब परेशान किसान क्या करें।

मैने किसानों को धमकी नहीं दी, अाराेप बेबुनियाद


किसानाें काे शिफ्ट कर दूसरे वेयर हाउस में खरीदी करेंगे


अब तक 40 लाख क्विंटल गेहूं और 20 हजार क्विंटल चना की हुई तुलाई

जिले में समर्थन मूल्य के 106 खरीदी केंद्रों पर 42744 किसानों से 4.50 लाख मीट्रिक टन गेहूं व 16745 किसानों से 60 हजार मीट्रिक टन चना खरीदने का लक्ष्य है। अब तक 4 लाख मीट्रिक टन गेहूं व 20 हजार मीट्रिक टन चना खरीदा जा चुका है। लेकिन हम्मालों की कमी की वजह से खरीदी की व्यवस्था गड़बड़ाने लगी है। पहले अधिकारियों ने कहा चुनाव और फिर शादी-ब्याह की वजह से हम्माल नहीं मिल रहे। लेकिन असल वजह अब सामने आई है।

मजदूर महासंघ ने कहा हम्मालों का हो रहा शोषण

मप्र कृषि उपज मंडी मजदूर महासंघ के प्रदेश संयोजक अनिल वैद्य ने कहा कि केंद्रों पर हम्मालों का शोषण हो रहा है। हम्मालों को निर्धारित दर से आधी हम्माली भी नहीं दी जा रही है। उन्होंने कलेक्टर एस. विश्वनाथन से मुलाकात कर हम्मालों को उनका उचित मेहनताना दिलाए जाने की मांग की। उन्होंने हम्माली दर की सूची, दूसरे जिले से आने वाले हम्मालों के ठेकेदारों से नान व सोसाइटियों से किए गए अनुबंध की प्रति, कितनी समितियों को मंडी से खरीदी लाइसेंस दिए, खरीदी के दौरान बनाए प्रकरणों और अधिकारियों के निरीक्षण की जानकारी, वेयर हाउस के ठेकेदारों के अनुबंध की प्रति व सोसाइटियों के प्रासांगिक व्यय की सूची उपलब्ध कराने की मांग की।

समितियों को कमिशन के अलावा मिलता है प्रासांगिक व्यय

अधिकारियों के मुताबिक सोसाइटियों को समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए 27 रुपए प्रति क्विंटल कमिशन मिलता है। इसके अलावा प्रासांगिक व्यय का 9.76 रुपए प्रति बैग मिलता है। इसमें तुलाई, छपाई, सिलाई सहित अन्य व्यय शामिल है।

कम हम्माली मिलने की कोई शिकायत नहीं मिली है


X
Harda News - mp news hammali rs976 fixed himalaye ran halfway the farmers39 agony if they were not to be deployed for five days
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना