• Hindi News
  • Mp
  • Harda
  • Harda News mp news just light car hanko my rama gaadi wale bhuana festival concludes

जरा हल्के गाड़ी हांको मेरे राम गाड़ी वाले... से भुअाणा उत्सव का समापन

Harda News - पुरस्कार वितरण के बाद हुआ समापन, कलेक्टर भी बैठे कांग्रेसियों के साथ जमीन पर भास्कर संवाददाता | हरदा/ हंडिया ...

Jan 16, 2020, 07:45 AM IST
Harda News - mp news just light car hanko my rama gaadi wale bhuana festival concludes
पुरस्कार वितरण के बाद हुआ समापन, कलेक्टर भी बैठे कांग्रेसियों के साथ जमीन पर

भास्कर संवाददाता | हरदा/ हंडिया

दो दिनी भुआणा उत्सव बुधवार को साहसिक खेल, पतंगबाजी, नौका दौड़, दीपदान, विभिन्न प्रांतों की लोक कला और संस्कृति पर फोकस प्रस्तुतियां के बीच कबीर भजन गायक प्रहलाद टिपाणिया के भजनों के साथ समाप्त हुआ। इसके हजारों लोग साक्षी बने। मकर संक्रांति और भुआणा उत्सव में नर्मदा पुल को रंग बिरंगी रोशनी से सजाया गया। उत्सव में दूसरे राज्यों के अलावा जिले के कलाकारों ने भी सांस्कृतिक प्रस्तुति दी। प्रहलाद टिपाणिया ने जरा हल्के गाड़ी हांको मेरे राम गाड़ी वाले... भजन गाया। दिन में हॉट एयर बैलून से लाेगाें ने जमकर सैर की।

भुआणा उत्सव के आखिर दिन की शुरुआत सूर्य नमस्कार व योगा से हुई। नर्मदा पूजन कर आटे से बने दीप नर्मदा की लहरों के बीच दान किए। फिर पतंगबाजी का दौर चला। कई अफसरों और युवकों ने दर्जनों रंग बिरंगी पतंग उड़ाईं, पेंच लड़ाए। कलेक्टर, जिपं सीईओ ने भी हाथ आजमाए। इसके बाद नौका दौड़ हुई। दर्शकों ने तट पर खड़े होकर तालियां व सीटी बजाकर मल्लाहों का हौसला बढ़ाया। बालक बालिकाओं के लिए कई खेल स्पर्धाएं हुईं।

नर्मदा तट पर हॉट एअर बैलून का रोमांच

हरदा। स्थल पर मनोरंजन के भी इंतजाम थे। कई लोगों ने 300 रुपए किराया देकर हॉट एयर बैलून से सैर कर आनंद लिया। महिला अफसरों ने एटीवी बाइक की सवारी की। झूलों व मिकी माउस पर बच्चों की ज्यादा भीड़ रही। कलेक्टर ने भी झूले का आनंद लिया। अपनी हाथों से स्टाॅल पर ग्रामीणों व बच्चों को समरसता खिचड़ी परोसी। व्यंजन स्टॉल पर जायका लिया।

आयोजन
विभिन्न राज्यों के लोक नृत्यों और सांस्कृती की दिखी प्रस्तुति

हरदा। गुजरात के कलाकारों ने राठवा लोक नृत्य पेश किया। यह करीब 11 मिनट की प्रस्तुति थी।

कहत कबीर सुनो भई साधो...

प्रहलाद टिपाणिया ने अपनी विशिष्ट मालवी शैली में संत कबीर के भजन गाए तो माहौल भक्तिमय व आध्यात्मिक हो गया। उन्होंने संत महापुरुषों के विचारों व संदेशों को सरल दोहों के माध्यम से भजन में पिरोकर सुनाया। उनका भजन जन में राम विराजे, राम कोई धाम नहीं सुना तो दर्शक भाव विभोर हो गए। श्रोताओं की फरमाइश पर उन्होंने उनका चर्चित भजन जरा हल्के गाड़ी हांको मेरे राम गाड़ी वाले सुनाया। देर रात तक उनके भजन नर्मदा तट पर गंूजते रहे। जिन्हें सुनने के लिए श्रोता बैठे रहे। टिपाणिया ने कहा कि जीवन के लिए अमूल्य शिक्षा भी कबीर भजनों के माध्यम से मिली।

राजस्थान के कालबेलिया नृत्य की रही धूम

शाम को सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में राजस्थान के कालबेलिया नृत्य को सभी ने पसंद किया। गुजरात की राठवा जनजाति के राठ नृत्य में कलाकारों के हैरतअंगेज करतबों ने दर्शकों को चौंकाया। भारिया जनजातीय सैताम नृत्य के माध्यम से विशिष्ट जनजातीय संस्कृति से दर्शक रूबरू हुए।

नहीं आईं मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधो

उत्सव के समापन में संस्कृति मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधो भी शामिल होने वाली थीं। 4 बजे तक उनका इंतजार हुआ। फिर उनका आगमन अपरिहार्य कारणों से स्थगित होने का पत्र आ गया।

Harda News - mp news just light car hanko my rama gaadi wale bhuana festival concludes
X
Harda News - mp news just light car hanko my rama gaadi wale bhuana festival concludes
Harda News - mp news just light car hanko my rama gaadi wale bhuana festival concludes
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना