• Hindi News
  • Mp
  • Harda
  • Harda News mp news napa to replace damaged pipeline in flood water supply may be affected for 1 week

बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुई पाइप लाइन को बदलेगी नपा, 1 सप्ताह तक पानी की सप्लाई हो सकती है प्रभावित

Harda News - हरदा। इसी के बाजू से दो फीट नीचे बिछाई जाएगी 400मीटर पाइप लाइन। नवंबर के अंतिम सप्ताह में शहर और आसपास के क्षेत्र...

Nov 11, 2019, 08:16 AM IST
हरदा। इसी के बाजू से दो फीट नीचे बिछाई जाएगी 400मीटर पाइप लाइन।

नवंबर के अंतिम सप्ताह में शहर और आसपास के क्षेत्र में बंद रहेगी पानी की सप्लाई

भास्कर संवाददाता | हरदा

नवंबर माह के आखिरी सप्ताह में शहर के करीब 25 हजार नल उपभोक्ताओं को पानी सप्लाई नहीं मिल पाएगा। सुकनी नदी की बाढ़ में बही पेयजल पाइप लाइन की मरम्मत इसी माह के अंत तक शुरू होना है। इसलिए यह अव्यवस्था से शहर के पुराने इलाकों के लोगों को दो-चार होना पड़ेगा।

पाइप लाइन बदलने के लिए 24.45 लाख रुपए के पेयजल पाइप सहित अन्य मटेरियल आएगा। नपा कर्मचारी खुद पाइप लाइन की मरम्मत करेंगे। दिसंबर माह के पहले सप्ताह में पूरा कर लिया जाएगा। बाढ़ से बचाने के लिए नपा एक फीट मोटी और 400 मीटर लंबी पाइप लाइन नदी में दो फीट नीचे दबाएगी। इससे पाइप बारिश में आने वाली बाढ़ में नहीं बहेगी। पुरानी पाइप लाइन की मरम्मत के दौरान 3 से 7 दिन पेयजल सप्लाई नहीं हो सकेगी। इससे पुराने शहर के 25 हजार लोगों को पेयजल संकट का सामना करना पड़ेगा। इसके लिए नपा वैकल्पिक इंतजाम करेगी।

लोगों को पेयजल की मिलेगी सुविधा : 24.45 लाख रुपए से पाइप सहित अन्य मटेरियल आएगा

नदी में दो फीट नीचे 400 मीटर लाइन दबाई जाएगी

बाढ़ के तेज बहाव से बचाने के लिए नदी में दो फीट नीचे 400 मीटर लाइन दबाई जाएगी। इसमें नदी में 100 मीटर और उसके दोनों किनारों के 150-150 मीटर तक की पाइप लाइन शामिल है। पाइप लाइन की मजबूती के लिए जमीन के अंदर सीमेंट-कांक्रीट (सीसी) बेस तैयार किया जाएगा। कालम खड़े कर पाइप लाइन के चारों ओर सीमेंटीकरण होगा। इससे पाइप बारिश के तेज बहाव में नहीं बहेंगे।

लोगों को 5 लाख लीटर कम मिल रहा पानी

अस्थाई तौर पर जोड़ी गई पेयजल पाइप लाइन से 5 लाख लीटर पानी कम मिल रहा है। इस लाइन से 40 लाख लीटर पानी सप्लाई होता था। लेकिन अब मरम्मत की वजह से लाइन प्रेशर सहन नहीं कर सकेगी। इसके कारण 5 लाख लीटर पानी कम सप्लाई किया जा रहा है। इस वजह से लोगों के घरों पर्याप्त पानी नहीं पहुंच पा रहा है।

शहर में लोगों को 40 मिनट ही पानी सप्लाई हो पाया

जोरदार बारिश के दौरान 8 सितंबर की रात इंदौर-बैतूल हाईवे पर स्थित सुकनी नदी में बाढ़ आई थी। इसके तेज बहाव में 35 साल पुरानी पेयजल पाइप लाइन बह गई थी। इससे एक सप्ताह तक शहर के लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ा था। नपा ने जल आवर्धन योजना की नई पाइप लाइन से अगल-अलग टंकियों को पानी सप्लाई किया। इस दौरान शहर के लोगों को 40 मिनट ही पानी सप्लाई हो पाया। नपा कर्मचारियों ने क्षतिग्रस्त पाइप लाइन की मरम्मत कर अस्थाई व्यवस्था बनाई। हालांकि, इसके बाद भी पर्याप्त प्रेशर के साथ लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है।

25 हजार लोगों को होगी 1 सप्ताह तक परेशानी

पाइप लाइन की मरम्मत 15 दिन में शुरू हो जाएगी। पहले बेस तैयार कर पाइप लाइन बिछाकर ज्वाइंट जोड़े जाएंगे। आखिरी में अस्थाई तौर पर जोड़ी गई क्षतिग्रस्त पाइप को अलग कर नई लाइन से जोड़ा जाएगा। इसमें 3 दिनों से एक सप्ताह तक पुराने व नए शहर के 25 हजार लोगों को पेयजल संकट का सामना करना पड़ेगा। इससे पुराने शहर के खेड़ीपुरा, गढ़ीपुरा, रेलवे स्टेशन, सिंधी कॉलोनी, सिविल लाइन, प्रताप कॉलोनी, वार्ड एक, मराठा मंदिर और उसके आसपास के इलाके शामिल हैं।

परेशान नहीं होने देंगे


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना