• Hindi News
  • Mp
  • Harda
  • Khirkiya News mp news on turning into knowledge virtue adornment is made otherwise arrogance becomes pt manavat

ज्ञान गुण में बदलने पर शृंगार बनता है अन्यथा अहंकार बन जाता है : पं. मनावत

Harda News - धर्म का अर्थ भरत, काम का अर्थ लक्ष्मण, अर्थ का शत्रुघन और मोक्ष का अर्थ राम होता है। राम के साथ लक्ष्मण का मतलब है कि...

Jan 16, 2020, 08:25 AM IST
Khirkiya News - mp news on turning into knowledge virtue adornment is made otherwise arrogance becomes pt manavat
धर्म का अर्थ भरत, काम का अर्थ लक्ष्मण, अर्थ का शत्रुघन और मोक्ष का अर्थ राम होता है। राम के साथ लक्ष्मण का मतलब है कि काम के साथ मोक्ष और धर्म के साथ धन शोभा देते हैं। अधर्म से कमाया धन कभी भी धर्म के काम में न लगाएं। यह बात कुड़ावा में जादम परिवार के तत्वावधान में चल रही रामकथा के चौथे दिन बुधवार को कथा वाचक पं. श्यामस्वरूप मनावत ने कहीं।

उन्होंने कहा कि रावण केवल ज्ञानी था परंतु हनुमानजी ने ज्ञान को गुण में बदल दिया था। जब ज्ञान गुण में बदल जाए तो जीवन का श्रृंगार बनता है। अन्यथा वह अहंकार बन जाता है। प्रभु श्रीराम संहार करने वाले नहीं तारणहार हैं। यज्ञ में सहायता के लिए राम लक्ष्मण को लेने मुनि विश्वामित्र अयोध्या पहुंचे। इस वृतांत का विवेचन कर उन्होंने कहा कि प्रभु प्रेम और सरलता से रिझते हैं। उन्हें छल छिद्र नहीं भाते, हृदय में प्रेम के सागर का प्रवाह उमड़ता है। श्रृद्धा भक्ति से परिपूर्ण समर्पित होकर भक्त जब भगवान को पुकारता है तो वह उसके सहायक बनकर उबारने को दौड़े चले आते हैं। विश्वामित्र महामुनि थे किंतु वन में राक्षसों के आतंक और विश्व मांगल्य की भावना से कर रहे यज्ञ में राम और लक्ष्मण को सहायक बनाने राजा दशरथ के पास गए। तब दशरथ उनके साथ जाने को तैयार होते हैं। तो महामुनि यही कहते हैं कि मुझे मारने वाले की नहीं तारने वाले की आवश्यकता है।

खिरकिया। कथा में शामिल महिलाएं, बालिकाएं व अन्य।

X
Khirkiya News - mp news on turning into knowledge virtue adornment is made otherwise arrogance becomes pt manavat
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना