सात साल से बंद है गुलजार भवन का निर्माण नए टेंडर के लिए 18 माह में नहीं मिली टीएस

Harda News - करीब दो करोड़ की लागत से बीच शहर में स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर बनने वाले गुलजार भवन का निर्माण 7 साल में प्लिंथ...

Bhaskar News Network

May 25, 2019, 07:30 AM IST
Harda News - mp news the construction of gulzar bhawan is closed for seven years for new tender in 18 months ts
करीब दो करोड़ की लागत से बीच शहर में स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर बनने वाले गुलजार भवन का निर्माण 7 साल में प्लिंथ लेवल से आगे नहीं बढ़ सका है। गुणवत्ता ठीक न होने की शिकायत हुई। जांच में शिकायत सही निकली। परिषद की मंजूरी से ठेकेदार को भुगतान हुआ। ठेकेदार ने आगे का काम बंद कर दिया। नई नगर पालिका परिषद ने 18 माह पहले नए टेंडर के लिए शासन ने तकनीकी मंजूरी मांगी। लेकिन वह अभी तक नहीं मिली। अधूरा निर्माण खंडहर सा दिखने लगा है। कॉलम में लगी सरिया में जंग लगने लगी है। वहीं शहर काे मिलने वाली आडिटोरियम की सुविधा और व्यवसायिक दुकानों से नपा को मिलने वाला राजस्व भी अधर में लटक गया है।

कांग्रेस शासित नपा के कार्यकाल में 2011-12 में शासकीय कन्या शाला के सामने पुराने गुलजार भवन के स्थान पर नया सर्व सुविधा युक्त भवन बनना था। इसका नक्शा, डिजाइन आदि पास हुआ। टेंडर के बाद काम शुरू हुआ। काम केवल प्लिंथ लेवल तक ही पहुंचा था। इस दौरान किसी ने पोस्टकार्ड भेजकर निर्माणाधीन काम की गुणवत्ता की शिकायत कर दी। जांच में गुणवत्ता ठीक नहीं पाई गई। ठेकेदार ने भुगतान का दबाव बनाया। परिषद की सहमति के बाद उस समय करीब 25 लाख का भुगतान ठेकेदार काे हुअा था।

20 से ज्यादा दुकानें अाैर ऑडिटोरियम और सांस्कृतिक हाल भी बनेगा

हरदा। इस तरह 7 साल से अधूरा है गुलजार भवन का निर्माण।

5 साल से काम बंद

गुणवत्ता की जांच की कसौटी पर ठेकेदार का काम खरा नहीं उतरा। ठेकेदार के अनुसार भुगतान के बिल दोगुनी राशि के थे। नपा ने तकनीकी जानकारों से गुणवत्ता की जांच व मूल्यांकन कराया। इसमें यह राशि करीब 50 फीसदी कम हो गई। इसके बाद ठेकेदार ने काम बंद कर दिया।

ठेकेदार ने गुलजार भवन का निर्माण बंद कर दिया


अब आगे क्या

वर्तमान नपा ने इस काम को आगे बढ़ाने और पूरा कराने के लिए दोबारा टेंडर का निर्णय लिया है। परिषद की मंजूरी के बाद इसे तकनीकी स्वीकृति के लिए शासन को भेजा है। लेकिन करीब 18 माह बाद भी अभी तक नपा को शेष काम को पूरा कराने के लिए टीएस नहीं मिली। नपा ने भी इसका समय समय पर फॉलोअप नहीं लिया। इस कारण आज तक यह काम आगे शुरू नहीं हो पाया।

अभी यह हैं हालात

मौके पर प्लिंथ लेवल तक निर्माण हुआ है। कॉलम के सरिए निकले हुए हैं। जिनमें जंग लग रहा है। यहां बच्चे रोजाना सुबह शाम क्रिकेट खेलते हैं। अनहोनी हाेने की आशंका रहती है। एक ओर करीब 6 से 8 फुट की ऊंचाई तक दीवार भी बनाई जा चुकी है। मौसम की मार से इस पर घास उग आई। कहीं-कहीं काई भी जम रही है। शाम होते ही बदमाश व नशेड़ी यहां आ बैठते हैं।

टीएस की मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं


प्रस्तावित भवन में कारोबार के लिए करीब 20 से ज्यादा दुकानें बनेंगी। शहर में सांस्कृतिक आयोजनों के लिए हॉल या सार्वजनिक सुविधा नहीं है। इसके लिए नक्शे में यहां ऑडिटोरियम बनना है। एक प्रशिक्षण केंद्र बनेगा। इसमें निराश्रित महिलाओं या युवाओं या दोनों को विभिन्न प्रकार का व्यवसायिक प्रशिक्षण केंद्र बनेगा।

किसे क्या फायदा

गुलजार भवन में बनने वाली दुकानों को नपा नीलाम करेगी। इससे नपा को राजस्व मिलेगा। लोगों को व्यवसाय के लिए अवसर मिलेंगे। नगर को साहित्यिक, सामाजिक व सांस्कृतिक आयोजनों के लिए सर्व सुविधा युक्त स्थल मिल सकेगा।

X
Harda News - mp news the construction of gulzar bhawan is closed for seven years for new tender in 18 months ts
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना