ब्लॉक में 6 कृषि अधिकारी कम, जो हैं, वे नहीं पहुंच रहे खेतों में

Harda News - किसान कल्याण एवं कृषि विभाग के कार्यालय में सालों से स्टाफ की कमी बनी हुई है। आलम यह है कि कार्यालय को फील्ड के...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:15 AM IST
Khirkiya News - mp news there are 6 agricultural officers in the block who are they are not reaching the fields
किसान कल्याण एवं कृषि विभाग के कार्यालय में सालों से स्टाफ की कमी बनी हुई है। आलम यह है कि कार्यालय को फील्ड के अधिकारी संभाल रहे हैं। जबकि इन्हें कृषि विभाग की योजनाओं का प्रचार प्रसार करने और किसानों को खेती के नए नए तरीके बताने किसानों तक पहुंचना चाहिए। स्टाफ कम होने से फील्ड के अधिकारियों में से अधिकांश अधिकारी कामकाज देख रहे हैं।

विभागीय कार्यालय में करीब डेढ़ साल से वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी (एसएडीओ) का पद खाली है। जबकि करीब दस साल से कृषि विकास अधिकारी (एडीओ) के पद पर पदस्थापना नहीं हुई है। ऐसे में कृषि विभाग पूरी तरह से फील्ड के अधिकारियों पर निर्भर है। ग्रामीण कृषि विकास अधिकारी के 11 पदों में से तीन खाली हैं। 8 ग्रामीण विकास अधिकारियों के हाथ में ही खेती, किसानी और योजना का प्रचार-प्रसार है। स्टाफ की कमी के चलते फील्ड के अफसरों को कार्यालय के काम ज्यादा देखना पड़ता है। प्रतिदिन के शासन के पत्राचार, विभागीय और अन्य प्रशासनिक बैठकों में आना-जाना सहित अन्य काम में ही समय बीत जाता है। ऐसे में फील्ड पर यह अफसर समय पर नहीं पहुंच जाते हैं। जिसके चलते किसानों को योजनाओं की जानकारी भी समय रहते नहीं मिल पाती है। सालों से विभागीय अधिकारियों के मूल पदों पर पदस्थापना कराने वरिष्ठ अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की है। जिसका खामियाजा क्षेत्र के किसानों को भुगतना पड़ रहा है।

खिरकिया। कृषि विभाग कार्यालय, जहां स्टाफ की कमी बनी हुई है।

किसानों तक नहीं पहुंचती सही जानकारी

फील्ड के अधिकारियों की कमी के चलते किसानों तक समय पर सही जानकारी नहीं पहुंच जाती है। खेती में बोवनी का सही समय, दवा और खाद का छिड़काव, फसलों पर विभिन्न रोगों की रोकथाम, फसलों में पानी देने का उचित समय, जैविक खेती की नई तकनीकों सहित विभिन्न प्रकार की नई-नई जानकारी से किसान अनभिज्ञ रह जाते हैं।



शासन स्तर पर पत्राचार करते हैं


X
Khirkiya News - mp news there are 6 agricultural officers in the block who are they are not reaching the fields
COMMENT