• Hindi News
  • Mp
  • Harda
  • Harda News mp news wheat scam 345 q at 22 centers more pains despite its reported 148 quintals

गेहूं घोटाला : 22 केंद्रों पर 345 क्विं. ज्यादा ताैला, बावजूद इसके 148 क्विंटल की बता दी घटत

Harda News - अधिकारी का जवाब- परिवहन के दाैरान खरीदी केंद्र से गाेदाम के बीच गायब हुअा गेहूं जिले में बीते साल समर्थन मूल्य...

Feb 15, 2020, 07:36 AM IST
Harda News - mp news wheat scam 345 q at 22 centers more pains despite its reported 148 quintals
अधिकारी का जवाब- परिवहन के दाैरान खरीदी केंद्र से गाेदाम के बीच गायब हुअा गेहूं

जिले में बीते साल समर्थन मूल्य पर 52 सहकारी समितियाें ने गेहूं खरीदी की। इनमें 22 समितियाें में तय मानक से ज्यादा घटत का खुलासा हुअा है। जबकि सच्चाई यह है कि खरीदी के दाैरान हर समिति ने किसानाें के विराेध के बावजूद प्रति क्विंटल 1-1 किलाे गेहूं घटत का हवाला देकर ज्यादा लिया था। जब नाॅन एफएक्यू गेहूं मतलब नमी वाला गेहूं खरीदा ही नहीं ताे सूखत के नाम पर घटत क्याें अाई। खरीदी के 24 घंटे में ही केंद्र से गेहूं गाेदाम पहुंच गया, तब घटत का सवाल ही नहीं उठता। अब समितियां अाैर जिला सहकारी बैंक गेहूं की कमी काे एक-दूसरे पर डाल रहे हैं। जिला सहकारी बैंक इसे केंद्र से गाेदाम के बीच हुए परिवहन के दाैरान अाई कमी बता रहा है। कलेक्टर काेर्ट में केस की सुनवाई के बाद वसूली व जिम्मेदारी तय करने की बात कही।

वर्ष 2018-19 में गेहूं खरीदी के बाद 22 समितियाें ने 34 हजार 559 क्विंटल 66 किग्रा गेहूं खरीदा। अाैसतन 1 किलाे प्रति क्विंटल के मान से 345 क्विंटल 05 किलाे गेहूं किसानाें से ज्यादा ताैला। इसके बाद भी 148 क्विंटल 69 किलाे घटत बता दी। यानी लगभग 90 लाख रुपए का घोटाला हुआ है।

यह कैसे संभव है, जब पहले ही हर बात का रखा ध्यान

गेहूं की खरीदी गई मात्रा में घटत की बात अासानी से किसी के गले नहीं उतर रही है। क्याेंकि समितियाें ने खरीदी के दाैरान हर बात का ध्यान रखा। 50-50 किग्रा की बाेरियाें में खरीदी की। हर बाेरी पर 5-5 साै ग्राम गेहूं ज्यादा लिया। किसानाें ने शिकायतें की। समितियाें ने दलील दी कि समय पर परिवहन न हाेने अाैर गेहूं में नमी हाेने पर धूप में पड़ा रहने से गीला गेहूं सूखता है। इससे वजन में कमी अाती है। किसान मान गए। इसके बाद घटत पर सवाल है।

ट्रांसपाेटर्स की भूमिका संदिग्ध: नाेडल अधिकारी

22 समितियाें द्वारा बखरीदी गेहूं में अाई घटत का खुलासा हाेने के बाद अब समितियां व नाेडल एजेंसी एक-दूसरे पर जिम्मेदार डालकर खुद का बचाव करने में लगी हैं। जिला सहकारी बैंक के नाेडल अधिकारी केसी सारन की दलील है कि खरीदी के दाैरान गेहूं में नमी थी। परिवहन समय पर नहीं हाेने से यह धूप में पड़ा रहा। इसके बाद केंद्र से गाेदाम तक ढुलाई के दाैरान कमी अाई है। कचरा, मिट्टी वाले गेहूं के लिए केंद्राें पर छलना लगाया। खरीदी के 24 घंटे में उठाव की व्यवस्था की थी। यदि इसे सच माने ताे गेहूं ढुलाई के लिए जिस ट्रांसपाेटर्स काे ठेका दिया था, उनकी भूमिका संदिग्ध है। उनसे वसूली हाेना चाहिए। इस सीजन में उन्हें परिवहन से प्रतिबंधित करना चाहिए। जीपीएस लगे वाहनाें काे ही परिवहन में लगाना चाहिए।

गेहूं खरीदी में अक्सर होती है गड़बड़ी, प्रशासन क्यों मौन है

से गाेदाम तक ढुलाई के दाैरान कमी अाई है। कचरा, मिट्टी वाले गेहूं के लिए केंद्राें पर छलना लगाया। खरीदी के 24 घंटे में उठाव की व्यवस्था की थी। यदि इसे सच माने ताे गेहूं ढुलाई के लिए जिस ट्रांसपाेटर्स काे ठेका दिया था, उनकी भूमिका संदिग्ध है। उनसे वसूली हाेना चाहिए। इस सीजन में उन्हें परिवहन से प्रतिबंधित करना चाहिए। जीपीएस लगे वाहनाें काे ही परिवहन में लगाना चाहिए।


सवाल- घटत का हवाला देकर हर समिति ने 100 किलाे पर 1 किलाे तक अधिक लिया गेहूं, फिर कमी क्याें

घटत के केस कलेक्टर काेर्ट में लगाएंगे

केंद्र से गाेदाम के बीच परिवहन अाैर धूप में सूखत अाने से घटत हुई है। घटत के केस कलेक्टर काेर्ट में लगाएंगे। इसमें सभी पक्षाें के सुनने के बाद जिम्मेदारों से वसूली हाेगी।
केसी सारन, प्रबंधक, जिला सहकारी बैंक, हरदा

घटत पर वसूली की कार्रवाई कलेक्टर करेंगे

समितियाें के घटत में पहले 22 समितियां अपात्र थीं। हाल ही में 1 प्रतिशत तक घटत वाली समितियाें काे शासन से खरीदी की अनुमति दे दी गई है। घटत पर वसूली की कार्रवाई कलेक्टर करेंगे।
केएस पेंड्राे, जिला आपूर्ति अधिकारी, हरदा

हरदा। वेयरहाउस के पास रखा गेहूं। (फाइल फोटो)

X
Harda News - mp news wheat scam 345 q at 22 centers more pains despite its reported 148 quintals
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना