• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Harda
  • Harda नपा ने लाइन डालकर तय की पार्किंग की हद दुकानदारों ने किया अतिक्रमण, लग रहा जाम
--Advertisement--

नपा ने लाइन डालकर तय की पार्किंग की हद दुकानदारों ने किया अतिक्रमण, लग रहा जाम

Harda News - शहर के मुख्य बाजार और भीड़ वाले व्यस्ततम इलाकों में मनमाने ढंग से ठेले व अन्य दुकानें लगाने वालों पर अंकुश लगाने 8...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 03:26 AM IST
Harda - नपा ने लाइन डालकर तय की पार्किंग की हद दुकानदारों ने किया अतिक्रमण, लग रहा जाम
शहर के मुख्य बाजार और भीड़ वाले व्यस्ततम इलाकों में मनमाने ढंग से ठेले व अन्य दुकानें लगाने वालों पर अंकुश लगाने 8 माह पहले प्रशासन व नगर पालिका ने आइल पेंट की लाइन डालकर हद तय की थी। लेकिन निगरानी व कार्रवाई के अभाव में दुकानदारों ने हद पार कर चिन्हित जोन में अतिक्रमण कर दुकानें लगाना शुरू कर दिया। इससे आए दिन सड़कों पर यातायात बाधित होने के साथ विवाद की स्थिति बन रही है। वहीं गणेशोत्सव में लोगों को परेशानी होगी। स्थानीय दुकानदारों ने अतिक्रमण करने वालों की सीएम हेल्प लाइन में शिकायत भी की, लेकिन 300 दिन बाद भी निराकरण नहीं हुआ। अतिक्रमण से पैदल निकलना भी मुश्किल हो रहा है।

यह है विकल्प

बड़ा मंदिर के सामने लगने वाली चाट फुल्की के ठेले अजनाल घाट किनारे खड़े किए जा सकते हैं। यहां रोशनी व सफाई के इंतजाम कर इसे चौपाटी के रुप में विकसित किया जा सकता है। अभी यहां असामाजिक तत्वों से दुकानदार खतरा महसूस करते हैं। इंतजाम कर दे तो बड़ा मंदिर के सामने फल वाले शिफ्ट हो सकते हैं। इससे तंग गलियां मुक्त हो सकेंगी। बाहर से आने वाले भारी वाहन नार्मदीय धर्मशाला के पास खड़े किए जा सकते हैं।

अभी ये हैं हालात

प्रशासन नाकाम, सीएम हेल्पलाइन से आस

बाजार के दुकानदारों ने कई बार शिकायत की और कार्रवाई भी हुई। लेकिन स्थायी व्यवस्था नहीं बनी। तब दुकानदारों ने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की। अभी यह चौथे लेवल पर जा पहुंची है। दुकानदारों को वहीं से कार्रवाई की आस है।

सराफा बाजार वाली गली में बीचोंबीच पार्किंग के लिए जगह तय की थी। लेकिन यहां बाजार खुलने से पहले ही फल, सब्जी, धानी, फुटाने, पान, रेडीमेड कपड़े, छतरी रिपेयरिंग वालों ने ठेले खड़े कर दिए। ऐसे में बाजार आने वालों के लिए पार्किंग की जगह नहीं बची। लोग मजबूरी में आड़ी तिरछी बाइक खड़ी करते हैं। इससे दूसरे वाहन चालक व राहगीर तथा दुकानदार परेशान होते हैं।

यह भी है कारण

नवंबर में विधानसभा चुनाव होना है। इस कारण भी नपा अभी अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई से बच रही है। जिससे लोग पार्टी से इसको लेकर नाराज न हों। यही वजह है कि हाथ ठेले वाले फेरे लगाने के बजाय कपड़ा, पटवा और सराफा तथा पुरानी सब्जी मंडी में कहीं भी ठेले खड़े कर कारोबार करते हैं। इससे पैदल निकलना भी मुश्किल होता है। रेस्ट हाउस के सामने और अन्य क्षेत्रों में भी तेजी से अतिक्रमण बढ़ रहा है।

यह बनाई थी व्यवस्था

अवैध वसूली के कारण मिल रहा बढ़ावा

घंटाघर के पास नो पार्किंग जोन है। बोर्ड भी लगा है, बाजू में पुलिस सहायता केंद्र है। 2-3 पुलिस जवान तैनात रहते हैं। नसुस सदस्य भी रहते हैं। लेकिन पार्किंग से रोकने के बजाय अवैध वसूली कर इसे बढ़ावा दिया जा रहा है। ग्रामीण लोगों से रुपए वसूल लिए जाते हैं।

घंटाघर क्षेत्र के सराफा व अन्य व्यापारियों ने तत्कालीन एसडीएम एसएल सोलंकी से अतिक्रमण को लेकर लिखित शिकायत की थी। तत्कालीन कलेक्टर अनय द्विवेदी के आदेश पर नपा ने पुलिस की मौजूदगी में पीले आइल पेंट से मेन रोड व बाजार में पार्किंग के लिए जगह चिन्हित की थी। इस लाइन से बाहर पार्किंग व दुकानदारों का सामान रखा होने पर जब्ती तथा जुर्माने की कार्रवाई के निर्देश नपा को दिए थे। लेकिन लगातार मानीटरिंग न होने से कुछ ही समय बाद वापस स्थिति वैसी ही हो गई।



Harda - नपा ने लाइन डालकर तय की पार्किंग की हद दुकानदारों ने किया अतिक्रमण, लग रहा जाम
X
Harda - नपा ने लाइन डालकर तय की पार्किंग की हद दुकानदारों ने किया अतिक्रमण, लग रहा जाम
Harda - नपा ने लाइन डालकर तय की पार्किंग की हद दुकानदारों ने किया अतिक्रमण, लग रहा जाम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..