--Advertisement--

बैठक में देरी से आने पर वेतन काटने की चेतावनी

हरदा। बैठक में कलेक्टर ने दिए अधिकारियों को निर्देश। सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण नहीं होने पर...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:02 AM IST
हरदा। बैठक में कलेक्टर ने दिए अधिकारियों को निर्देश।

सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण नहीं होने पर कलेक्टर ने जताई नाराजगी

भास्कर संवाददाता| हरदा

पिछली बार स्टेट में हम टॉप पर थे, अब बीसवीं पोजिशन पर पहुंच गए हैं। यह लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएम हेल्प लाइन के मामलों का निराकरण अधिकारियों की प्राथमिकता होना चाहिए। दो दिनों में शिकायतों का निराकरण करें। कोई भी शिकायत पेडिंग नहीं होनी चाहिए। यह निर्देश कलेक्टर एस. विश्वनाथन ने सोमवार को कलेक्टोरेट में हुई बैठक में दिए। उन्होंने सीएम हेल्प लाइन के प्रकरणों के निराकरण में उदासीनता बरतने पर नाराजगी जताई। कलेक्टर ने आगामी बैठक में देरी से पहुंचने वाले अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने की चेतावनी दी। गैरहाजिर अधिकारियों को शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर विश्वनाथन ने कहा कि बैठक के बाद सभी सीएम हेल्पलाइन में लगें। ये हमारी हैबिट में शामिल होना चाहिए। सीएम हेल्प लाइन टॉप प्रायरिटी पर होना चाहिए। आई कांट टालरेट दीज नेग्लीजेंसी। उन्होंने अधिकारियों को अपने अधीनस्थ कर्मचारियों की बैठक लेकर रिव्यू करें। उन्होंने दो दिन में शिकायतों का निराकरण कर शिकायत करें। फोकस वील बी आॅन सेटिसफेक्टरी क्लोजर आॅफ कंपलेन।

कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन के संतुष्टि पूर्वक निराकरण एवं 300 दिन से अधिक लंबित शिकायतों की भी समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से संपत्ति विरूपण के अंतर्गत की गई कार्रवाई जानकारी ली। अधिकारी प्रमाण-पत्र दें कि संपत्ति विरूपण की कार्रवाई की जा चुकी है। बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ एचएस मीना, एडीएम बीएल कोचले, संयुक्त कलेक्टर प्रियंका गोयल सहित अन्य मौजूद थे।