• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Hata News
  • बंद का नहीं दिखा कोई असर, अहिरवार समाज ने सौंपा ज्ञापन
--Advertisement--

बंद का नहीं दिखा कोई असर, अहिरवार समाज ने सौंपा ज्ञापन

हटा। एसडीएम को ज्ञापन सौंपते अहिरवार समाज के लोग। एससीएसटी एक्ट को पूर्व की भांति लागू करने की मांग की भास्कर...

Danik Bhaskar | Apr 03, 2018, 03:00 AM IST
हटा। एसडीएम को ज्ञापन सौंपते अहिरवार समाज के लोग।

एससीएसटी एक्ट को पूर्व की भांति लागू करने की मांग की

भास्कर संवाददाता| हटा

अहिरवार समाज द्वारा सोमवार को एससी, एसटी एक्ट 1989 को पूर्व की भांति लागू किए जाने को लेकर नगर बंद का आह्वान कराया। हालांकि बंद का ज्यादा असर नहीं दिखा। इस दौरान समाज के लोगों ने राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया कि देश में सदियों से चली आ रही असामाजिक, अवांछनीय, ऊंच-नीच, छुआछूत जैसी अमानवीय परंपरागत व्यवस्था आज भी चरम पर है। जिसके कारण पूरे देश की बहुसंख्यक आबादी पर आए दिन जुल्म, ज्यादती, अन्याय हो रहे हैं। साथ ही उनका शोषण किया जा रहा है। ज्ञापन में कहा गया कि कुछ समुदायों पर जातीयता के कारण हो रहे शोषण, जुल्म को रोकने एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार अधिनियम 1989 जिसे भारतीय सांंसद द्वारा पारित कर 30 जनवरी 1990 को पूरे देश में लागू किया गया है, यह अधिनियम अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए विशेष सुरक्षा का कार्य करता है, लेकिन 30 मार्च को निष्प्रभावी कर दिया गया है, जिससे के कारण इन वर्गों में असुरक्षा की भावना पैदा हो गई है। जिससे कारण एक बार फिर अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग अत्याचार व शोषण की संभावना बढ़ गई है। इसलिए इस पर पुनर्विचार कर पूर्व की भांति लागू किया जाए। ज्ञापन देने वालों में गोविंद राज, अनिल अहिरवार, मनीष वर्मा, कैलाश अहिरवार, संजय अहिरवार, मिथुन सूर्यवंशी, अशोक अहिरवार, सुरेंद्र कुमार चौधरी सहित सैकड़ों महिलाएं व पुरुष मौजूद थे।