• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Hata News
  • मां निरंकाली के दरबार में लगा मेला, निकले जवारे, रामलीला देखने लोगों की उमड़ी भीड़
--Advertisement--

मां निरंकाली के दरबार में लगा मेला, निकले जवारे, रामलीला देखने लोगों की उमड़ी भीड़

चैत्र शुक्ल पूर्णिमा को ग्राम सेमरा संतोष के पास नीमखेड़ा में मां निरंकाली माता के दरबार में विशाल मेले का आयोजन...

Dainik Bhaskar

Apr 03, 2018, 03:00 AM IST
मां निरंकाली के दरबार में लगा मेला, निकले जवारे, रामलीला देखने लोगों की उमड़ी भीड़
चैत्र शुक्ल पूर्णिमा को ग्राम सेमरा संतोष के पास नीमखेड़ा में मां निरंकाली माता के दरबार में विशाल मेले का आयोजन किया जाता रहा है। जिसमें ग्राम के आसपास के गांव एवं दूर-दराज से आए भक्तजनों ने शामिल होकर मां का आशीर्वाद लिया। वहीं रामलीला के मंचन के दौरान देर रात तक सैकड़ों लोगों की भीड़ लगी रहती है।

मेला प्रभारी अतुल पन्या ने माता के दरबार से जवारे निकालने के बाद कलश यात्रा के साथ श्रीशिव शक्ति महायज्ञ का भी आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान माता के पंडा हाथों में खप्पर ध्वज पताका लेकर माता निरंकाली के दरबार में अखाड़ा के साथ भक्ति करते हुए महिला पुरुष भक्त लोग सिर पर जवारे घट रखकर माता के जयकारे लगाते हुए ग्राम का भ्रमण करते हैं। वही मां के भक्तों मुंह में छेद कर जवारों के साथ भक्ति आराधना में लीन रहते हैं। इसके अलावा यहां पर आने वाले भक्त माता के दरबार में अपनी अर्जी लेकर आते हैं और ब अर्जी पूर्ण हो जाती है तो भंडारा के साथ प्रसाद चढ़ाने आते हैं।

भागवत कथा व रामलीला का आयोजन: आयोजन स्थल पर दोपहर 3 बजे से शाम 7 बजे तक बालव्यास कृष्ण कांत शास्त्री के सानिध्य में भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। सोमवार को कथावाचक ने कहा जीवन में प्राणी को मानव सेवा और सदकर्म जरूर करना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में परमात्मा की ही सेवा होती है। कलयुग में जीव के पास हर साधन है, जिनका सदुपयोग जीव को करते हुए धर्म पथ पर आगे बढ़ना चाहिए। महाराज ने कहा कि परमात्मा को पाने का मात्र एक ही सहारा है वह है सदकर्म और निष्छल प्रेम। इससे भक्तों को सदैव परमात्मा से निष्छल प्रेम ही करना चाहिए। यही सच्चा भक्ति मार्ग है।

रामलीला का चल रहा मंचन: मेला आयोजन स्थल पर रात 8 बजे से बृजेश आदर्श रामलीला कंपनी द्वारा रामलीला का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें रामायण के विभिन्न चौपाइयां गाकर पात्र कलाकार देर रात तक लोगों का मनोरंजन करते हैं। रामलीला का लुदर्जनों गांव के लोगों की भीड़ लगी रहती है। रासलीला में सबसे पहले रामदरबार की झांकी सजाई जाती है। जहां पर महाआरती के बाद रामायण के विभिन्न प्रसंगों का सजीव चित्रण किया जाता है।

हटा। रामलीला का मंचन देखने देर रात तक लोगों की भीड़ लगी रही।

X
मां निरंकाली के दरबार में लगा मेला, निकले जवारे, रामलीला देखने लोगों की उमड़ी भीड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..