Hindi News »Madhya Pradesh »Hata» टैंकरों से पेयजल की टंकी में डाला जाता है पानी फिर भी नहीं हो पा रही आपूर्ति

टैंकरों से पेयजल की टंकी में डाला जाता है पानी फिर भी नहीं हो पा रही आपूर्ति

नगर की जलावर्धन योजना के नाम पर मोटी रकम खर्च होने के बावजूद भी कई वार्डों के लोग जलसंकट से जूझ रहे हैं। नगर के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 03:05 AM IST

नगर की जलावर्धन योजना के नाम पर मोटी रकम खर्च होने के बावजूद भी कई वार्डों के लोग जलसंकट से जूझ रहे हैं। नगर के नवोदय वार्ड, शास्त्री वार्ड, गांधी वार्ड के लोग गर्मी के शुरूआती दिनों में ही पानी के लिए यहां-वहां भटकने लगे हैं। लोगों को पानी की तलाश में 2 से 3 किमी दूर जाना पड़ रहा है। ऐसे होने से हर काम छोड़कर लोगों को पानी की तलाश में भटकना पड़ रहा है। इसके बाद ही अन्य काम करते हैं।

नवोदय वार्ड में पेयजल व्यवस्था के लिए नगर पालिका द्वारा तीन टंकियां बनाई गई हैं। जिनमें टैंकर से पानी डाला जाता है। वार्ड की जनसंख्या जाता है। जिससे के कारण एक ही दिन में टंकियां खाली हो जाता है, जबकि वहां पर तीन से चार दिन में टैंकर से पानी डाला जाता है। ऐसे में लोगों को पानी के लिए काफी मशक्कत करना पड़ रही है।

हालात यह है कि एक व्यक्ति को एक-दो डिब्बा ही पानी मिल पाता है जो पीने के लिए ही पर्याप्त नहीं होता। ऐसी स्थिति में लोगों को निस्तार के लिए दूर-दूर से पानी लाना पड़ रहा है। नवोदय वार्ड निवासी समीना बेगम, रेश्मा, मुन्नीबाई, ललिताबाई, डोमन साहू, दयाराम ने बताया कि हम लोग 15 वर्षों से पाइप लाइन की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन मात्र आश्वासन ही मिल रहे हैं। किसी को भी हमारे वार्ड में पेयजल समस्या को लेकर कोई सरोकार नहीं हैं। यही हालात गांधी वार्ड में भी हैं। यहां के लोगों को भी पानी की समस्या के लिए परेशान होना पड़ रहा है।

कमिश्नर व कलेक्टर से शिकायत के बाद भी स्थिति जस की तस: गांधी वार्ड की पार्षद कौशल्या सुम्मेर अहिरवार ने बताया कि पीएचई द्वारा दो वार्ड में लाइन डालना थी, जो आज तक नहीं डाली गई है। हम लोगों ने बीते साल कमिश्नर व कलेक्टर से भी इस मामले की शिकायत की थी, लेकिन आश्वासन के सिवाय कुछ हाथ नहीं लगा।

वार्डों में लगे दो हैंडपंप एवं दो टंकी रोड निर्माण के दौरान नष्ट हो गई। जिससे हमारे वार्ड में जलसंकट से लोगों को हमेशा ही परेशान होना पड़ता है। अब गर्मी के दौरान पानी को लेकर और भी ज्यादा परेशानियों से जूझना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि वार्ड में एक कुआं भी है, जिसे जिला पंचायत अध्यक्ष ने घर की बाउंड्री के अंदर कर लिया है। जिससे लोगों को इसका कोई लाभ नहीं मिल रहा है।

नई योजना में शेष वार्डों में बिछाई जाएगी लाइन

हमें जिस-जिस वार्ड में पाइप लाइन बिछाना थी बिछा दी गई। अब 24 करोड़ की नई योजना आ रही है, उसी में शेष वार्डों में लाइन बिछाइ जाएगी। - एचएल अहिरवार, एसडीओ पीएचई

हटा। गांधी वार्ड में पानी की टंकी के पास रखे खाली कुप्पे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hata

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×