हटा

--Advertisement--

सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान

सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान भास्करसंवाददाता| नोहटा आमउपभोक्ताओं की सुविधाओं के लिए...

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2018, 03:35 AM IST
सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान

भास्करसंवाददाता| नोहटा

आमउपभोक्ताओं की सुविधाओं के लिए खोले गए बैंक अब जनता के लिए ही परेशानी का सबब बन गए हैं।

जहां कर्मचारियों की मनमर्जी के कारण दोपहर 2 बजे के बाद कामकाज शुरू हो रहा है। महत्वपूर्ण बात तो यह है कि इस बैंक से आसपास के दर्जनों गांव के सैकड़ों उपभोक्ताओं का लेनदेन होता है, इसके बावजूद भी किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। बैंक के खाता धारकों ने बताया कि बैंक खुलने का समय सुबह 10.30 बजे है। जिसके चलते हम लोग सुबह निर्धारित समय पर अपना पैसा निकालने जाते हैं ताकि समय पर घर वापस लौट सकें, लेकिन शाखा प्रबंधक दोपहर 1 से 2 बजे के बाद ही आते हैं। और जब वह कैश लाते हैं उसके बाद ही लेनदेन शुरू होता है। किसान सूरज, विजय ने बताया कि स्थानीय निवासी तो शाम तक अपना लेनदेन करते रहते हैं लेकिन जो किसान 20 से 25 किमी दूर से आते हैं उन्हें घर वापस जाने के लिए रात हो जाती है।

^इससंबंध में शाखा प्रबंधक विजय बहादुर सिंह का कहना है कि हेड ऑफिस में काम होता है और कैश निकलवाने में समय लगता है। इस वजह से खाताधारकों के भुगतान के लिए देर लगती है।

दोपहर 1 बजे के बाद आते हैं मैनेजर उसके बाद होता है पैसों का लेन-देन

X
Click to listen..