Hindi News »Madhya Pradesh »Hata» सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान

सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान

सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान भास्करसंवाददाता| नोहटा आमउपभोक्ताओं की सुविधाओं के लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 05, 2018, 03:35 AM IST

सहकारी बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान हैं किसान

भास्करसंवाददाता| नोहटा

आमउपभोक्ताओं की सुविधाओं के लिए खोले गए बैंक अब जनता के लिए ही परेशानी का सबब बन गए हैं।

जहां कर्मचारियों की मनमर्जी के कारण दोपहर 2 बजे के बाद कामकाज शुरू हो रहा है। महत्वपूर्ण बात तो यह है कि इस बैंक से आसपास के दर्जनों गांव के सैकड़ों उपभोक्ताओं का लेनदेन होता है, इसके बावजूद भी किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। बैंक के खाता धारकों ने बताया कि बैंक खुलने का समय सुबह 10.30 बजे है। जिसके चलते हम लोग सुबह निर्धारित समय पर अपना पैसा निकालने जाते हैं ताकि समय पर घर वापस लौट सकें, लेकिन शाखा प्रबंधक दोपहर 1 से 2 बजे के बाद ही आते हैं। और जब वह कैश लाते हैं उसके बाद ही लेनदेन शुरू होता है। किसान सूरज, विजय ने बताया कि स्थानीय निवासी तो शाम तक अपना लेनदेन करते रहते हैं लेकिन जो किसान 20 से 25 किमी दूर से आते हैं उन्हें घर वापस जाने के लिए रात हो जाती है।

^इससंबंध में शाखा प्रबंधक विजय बहादुर सिंह का कहना है कि हेड ऑफिस में काम होता है और कैश निकलवाने में समय लगता है। इस वजह से खाताधारकों के भुगतान के लिए देर लगती है।

दोपहर 1 बजे के बाद आते हैं मैनेजर उसके बाद होता है पैसों का लेन-देन

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Hata News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: shkari bank karmiyon ki mnmaani se pareshaan hain kisaan
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Hata

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×